Home /News /jharkhand /

रघुवर दास बोले, मानव तस्‍करी पर लगाम लगाने के लिए जल्‍द एक कठोर कानून बनाएंगे

रघुवर दास बोले, मानव तस्‍करी पर लगाम लगाने के लिए जल्‍द एक कठोर कानून बनाएंगे

मानव तस्करी भारत और बांग्लादेश जैसे देशों के साथ-साथ अमेरिका जैसे विकसित राष्ट्र में भी एक बड़ी समस्या है। दुनिया के इस तीसरे सबसे बड़े संगठित अपराध से निपटने के लिए सभी देशों को एक मंच पर आना पड़ेगा, ताकि इस विश्‍व व्यापी समस्या से निपटा जा सके। ये बात मानव तस्करी पर रांची में आयोजित दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय कॉनक्‍लेव में उभर कर सामने आई। इस कॉनक्‍लेव के समापन समारोह में मुख्यमंत्री रघुवर दास ने भी शिरकत की और इस समस्या के खात्मे के लिए एक कड़ा कानून बनाने की घोषणा की।

मानव तस्करी भारत और बांग्लादेश जैसे देशों के साथ-साथ अमेरिका जैसे विकसित राष्ट्र में भी एक बड़ी समस्या है। दुनिया के इस तीसरे सबसे बड़े संगठित अपराध से निपटने के लिए सभी देशों को एक मंच पर आना पड़ेगा, ताकि इस विश्‍व व्यापी समस्या से निपटा जा सके। ये बात मानव तस्करी पर रांची में आयोजित दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय कॉनक्‍लेव में उभर कर सामने आई। इस कॉनक्‍लेव के समापन समारोह में मुख्यमंत्री रघुवर दास ने भी शिरकत की और इस समस्या के खात्मे के लिए एक कड़ा कानून बनाने की घोषणा की।

मानव तस्करी भारत और बांग्लादेश जैसे देशों के साथ-साथ अमेरिका जैसे विकसित राष्ट्र में भी एक बड़ी समस्या है। दुनिया के इस तीसरे सबसे बड़े संगठित अपराध से निपटने के लिए सभी देशों को एक मंच पर आना पड़ेगा, ताकि इस विश्‍व व्यापी समस्या से निपटा जा सके। ये बात मानव तस्करी पर रांची में आयोजित दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय कॉनक्‍लेव में उभर कर सामने आई। इस कॉनक्‍लेव के समापन समारोह में मुख्यमंत्री रघुवर दास ने भी शिरकत की और इस समस्या के खात्मे के लिए एक कड़ा कानून बनाने की घोषणा की।

अधिक पढ़ें ...
मानव तस्करी भारत और बांग्लादेश जैसे देशों के साथ-साथ अमेरिका जैसे विकसित राष्ट्र में भी एक बड़ी समस्या है। दुनिया के इस तीसरे सबसे बड़े संगठित अपराध से निपटने के लिए सभी देशों को एक मंच पर आना पड़ेगा, ताकि इस विश्‍व व्यापी समस्या से निपटा जा सके। ये बात मानव तस्करी पर रांची में आयोजित दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय कॉनक्‍लेव में उभर कर सामने आई। इस कॉनक्‍लेव के समापन समारोह में मुख्यमंत्री रघुवर दास ने भी शिरकत की और इस समस्या के खात्मे के लिए एक कड़ा कानून बनाने की घोषणा की।

रांची में मानव तस्करी पर चल रहा दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय कॉनक्लेव शनिवार को सम्पन्न हो गया। कॉनक्लेव को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री रघुवर दास ने मानव तस्करी पर लगाम लगाने के लिए राज्य सरकार द्वारा जल्द ही एक कानून बनाने की बात कही। मुख्यमंत्री के अनुसार ये कानून जहां प्लेसमेंट एजेंसियों पर लगाम लगाएगा, वहीं कानून के तहत मानव तस्करों की सम्पत्ति जब्त कर वहां पीड़ित बच्चों के लिए ट्रेनिंग सेंटर बनेगा। मुख्यमंत्री ने मानव तस्करी को झारखंड की एक बड़ी समस्या बताते हुए इससे निपटने के लिए समाज और स्वयंसेवी संस्थाओं से भी आगे आने की अपील की।

कॉनक्लेव का आयोजन कर रही यूएस कॉन्सुलेट जनरल हेलेन लाफावे ने मुख्यमंत्री की घोषणा का स्वागत करते हुए कहा कि कठोर कानून के अलावा भी और कई स्तरों पर काम करने की जरूरत है। वहीं यूएस कॉन्सुलेट जनरल के उप निदेशक ग्रेग पार्डो ने अमेरिका में चल रहे मानव तस्करी के खेल की जानकारी देते हुए इसके खिलाफ सभी देशों को एकजुट होने की आवश्कता बताई।

यूएस कॉन्सुलेट का यह चौथा अंतर्राष्ट्रीय कॉनक्लेव था जिसका उद्घाटन शुक्रवार को कल्याण व महिला एवं बाल विकास मंत्री लुईस मरांडी, मानव संसाधन विकास मंत्री नीरा यादव और अमेरिकन कॉन्‍सुलेट जनरल हेलेन लाफावे ने संयुक्त रूप से किया था। इस दो दिवसीय कॉनक्लेव में अमेरिका, भारत के अलावा बांग्लादेश, नेपाल, भूटान जैसे कई देशों के प्रतिनिधियों ने दो दिनों तक मानव तस्करी को रोकने के लिए गहन मंथन किया और इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि इस संगठित अपराध के खिलाफ एक छत के नीचे आकर ही विजय हासिल की जा सकती है।

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर