Home /News /jharkhand /

बेटे की मां कहलाने के लिए 22000 में खरीद लिया नवजात, 'उड़ने' से पहले पकड़ी गई

बेटे की मां कहलाने के लिए 22000 में खरीद लिया नवजात, 'उड़ने' से पहले पकड़ी गई

Ranchi News: बेटा खरीदकर मुंबई भाग रही एक महिला को रांची एयरपोर्ट पर पुलिस ने गिरफ्तार किया.

Ranchi News: बेटा खरीदकर मुंबई भाग रही एक महिला को रांची एयरपोर्ट पर पुलिस ने गिरफ्तार किया.

Jharkhand Human Trafficking: रांची एयरपोर्ट पर पुलिस ने एक महिला को गिरफ्तार किया, जो नवजात बच्चे को लेकर मुंबई जा रही थी. महिला निकहत परवीन दो बेटियों की मां है, लेकिन उसे बेटा नहीं है. पुलिस के मुताबिक बेटे की चाहत में ही आरोपी महिला ने रांची से नवजात का सौदा किया था. पुलिस उसके किसी बच्चा चोर गिरोह से जुड़े होने की भी पड़ताल कर रही है.

अधिक पढ़ें ...

रांची. महज 3 दिन के एक नवजात को ट्रैफिकिंग (Jharkhand Human Trafficking) कर रांची से मुंबई ले जाने का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है. रांची के बिरसा मुंडा एयरपोर्ट  (Ranchi Birsa Munda Airport) पर सीआईएसएफ के जवानों ने नवजात को ले जा रही महिला को शक के आधार पर पकड़ा और जब पूछताछ हुई तो ट्रैफिकिंग का मामला सामने आया. इसके बाद एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट (एएचटीयू) के हवाले महिला को सौप दिया है. महिला का नाम निकहत परवीन है. निकहत इंडिगो की फ्लाइट से मुंबई जा रही थी. वहीं बच्चे को करुणा आश्रम में रखा गया है.

देश के बड़े-बड़े शहरों में झारखंड के सुदूरवर्ती इलाके से गरीब लड़कियों को बहला-फुसला कर बेचे जाने का मामला आए दिन देखने और सुनने को मिलता है. लेकिन महज 3 दिन के बच्चे के ट्रैफिकिंग का मामला सामने आया है जो प्रदेश के लिए चिंता का विषय है. मामले में अब तक जो जानकारी पुलिस को मिली है उसके अनुसार, महिला की दो बेटियां थी और बेटे की चाहत में उसने ये कदम उठाया. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, निकहत परवीन ने 22000 रुपए में इस नवजात का सौदा किया था. वह उसे लेकर रांची एयरपोर्ट भी पहुंच गई थी, लेकिन उसका हवाई जहाज जब तक उड़ान भरता, उसके पहले ही CISF ने निकहत को धर दबोचा.

गोद में 3 दिन का बच्चा देख हुआ शक

दरअसल, निकहत के पकड़े जाने की वजह उसकी गोद में नवजात का होना था. एयरपोर्ट पर सीआईएसएफ के जवानों ने महिला की गोद में नवजात को देख उसे गेट पर रोक दिया. इसके बाद निकहत इंडिगो के काउंटर पर जाकर बच्चे का नाम जुड़वाने का प्रयास करने लगी, तब इस मामले का खुलासा हुआ. फिर इंडिगो के स्टाफ ने एयरपोर्ट पुलिस को मामले की जानकारी दी और एयरपोर्ट पुलिस ने निकहत को एएचटीयू के हवाले कर दिया. एयरपोर्ट पुलिस इंचार्ज आनंद प्रकाश ने कहा कि इंडिगो स्टाफ की सूचना पर उन्होंने निकहत परवीन को बच्चे के साथ पकड़ा था. इसके बाद एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग का मामला होने के कारण ट्रैफिकिंग सेल की प्रभारी दुर्गा गुप्ता को मामला सौंप दिया गया.

बर्थ सर्टिफिकेट मांगा तो पकड़ी गई

जानकारी के अनुसार, इंडिगो एयरलाइंस के स्टाफ के पास जब महिला टिकट पर बच्चे के नाम को जुड़वाने के लिए पहुंची, तो इंडिगो के स्टाफ ने बच्चे का नाम पूछा. निकहत बच्चे का नाम नहीं बता पाई. साथ ही एयरलाइंस स्टाफ ने जब बच्चे का बर्थ सर्टिफिकेट मांगा, वह भी पेश करने में महिला नाकाम रही. इसी बात पर एयरलाइंस कर्मियों को संदेह हुआ और उन्होंने बिरसा मुंडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट पुलिस को बुला लिया. पुलिस की सामान्य पूछताछ में ही निकहत की कलई खुल गई और उसे गिरफ्तार कर लिया गया. जानकारी के मुताबिक, निकहत परवीन को कोई लड़का नहीं है, उसकी दो बेटियां हैं. उसका पति एक होटल में कर्मचारी है. पुलिस उसके किसी बच्चा चोर गिरोह से जुड़े होने की भी पड़ताल कर रही है. महिला झारखंड के ही बगोदर की रहनेवाली है.

Tags: Child thief gang, Child trafficking, Jharkhand news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर