झारखंड: अपर पुलिस अधीक्षक एवं उपाधीक्षक समेत कुल 477 पुलिसकर्मी हुए अब तक Corona संक्रमित
Ranchi News in Hindi

झारखंड: अपर पुलिस अधीक्षक एवं उपाधीक्षक समेत कुल 477 पुलिसकर्मी हुए अब तक Corona संक्रमित
झारखंड पुलिस के प्रवक्ता ने आज यह जानकारी दी. (सांकेतिक तस्वीर)

उन्होंने बताया कि इसके अतिरिक्त अब तक कोरोना संक्रमित (Corona Infected) पाये गये सभी पुलिस कर्मियों में से कुल 39 पुलिसकर्मी स्वस्थ भी हो चुके हैं.

  • Share this:
रांची. झारखण्ड (Jharkhand) में एक अपर पुलिस अधीक्षक (Additional Superintendent of Police) , एक उपाधीक्षक और पांच पुलिस निरीक्षकों समेत अब तक 477 पुलिसकर्मी कोरोना वायरस (Corona virus) से संक्रमित पाये गये हैं. झारखंड पुलिस के प्रवक्ता ने आज यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमित अपर पुलिस अधीक्षक स्तर के एक अधिकारी, पुलिस उपाधीक्षक स्तर के एक अधिकारी, पुलिस निरीक्षक स्तर के पांच अधिकारी, पुलिस अवर निरीक्षक स्तर के 41 अधिकारी, सहायक अवर निरीक्षक के स्तर के 51 अधिकारी एवं आशु लिपिक स्तर के चार अधिकारी , एक अवर सचिव, एक प्रधान लिपिक, 36 हवलदार, 265 आरक्षी चालक, 17 चतुर्थवर्गीय कर्मचारी एवं 15 गृहरक्षक ऐसे कर्मी हैं जिनका अभी इलाज चल रहा है. उन्होंने बताया कि इसके अतिरिक्त अब तक कोरोना संक्रमित पाये गये सभी पुलिस कर्मियों में से कुल 39 पुलिसकर्मी स्वस्थ भी हो चुके हैं.

उधर खबर है कि कोरोना वायरस का संक्रमण अब विधानसभा (Assembly) तक पहुंच गया है. कोरोना (COVID-19) के मामले मिलने के बाद अब झारखंड विधानसभा को 31 जुलाई तक सील कर दिया गया है. जानकारी के मुताबिक, विधायक और विधानसभा कर्मियों के कोरोना संक्रमित होने की सूचना के बाद ये फैसला लिया गया है. मालूम हो कि कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच अब झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार ने नई गाइडलाइंस जारी की है. अब नियमों का उल्लंघन पर 2 साल की जेल या 1 लाख रुपये का जुर्माना जमा करना पड़ सकता है. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) के नेतृत्व में बीते बुधवार को हुई कैबिनेट की बैठक में 39 प्रस्तावों पर मुहर लगी है, जिसमें कोरोना को लेकर जारी गाइडलाइंस का उल्लंघन संबंधी अध्यादेश की मंजूरी दी गई. इसके तहत दो वर्ष की सजा या एक लाख के जुर्माने का प्रावधान किया गया है.

तेजी से फैल रहा कोरोना
झारखंड में कोरोना वायरस का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है. सरकार के तमाम प्रयासों के बावजूद महामारी की रोकथाम के प्रयास नाकाम साबित हो रहे हैं. प्रदेश में रांची, पूर्वी सिंहभूम, गढ़वा और धनबाद जैसे जिलों में कोरोना संक्रमण चरम पर बताया जा रहा है. लेकिन इस बीच दुनिया के चर्चित मेडिकल जर्नल द लैंसेट (The Lancet) के एक अध्ययन ने चौंकाने वाले तथ्य का खुलासा किया है. बीते दिनों जारी की गई द लैंसेट की रिपोर्ट के मुताबिक झारखंड के देवघर जिले को इस महामारी से सबसे अधिक खतरा वाले देश के 20 जिलों की सूची में रखा गया है. इस रिपोर्ट की मानें तो बिहार, यूपी और एमपी के अलावा झारखंड के देवघर में भी कोरोना संक्रमण का जोखिम सबसे ज्यादा बताया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading