Assembly Banner 2021

Ranchi News: अस्पतालों में रखे-रखे एक्सपायर हो गई आयरन-फोलिक एसिड की दवा, कैसे निपटेंगे एनीमिया से?


सदर अस्पताल के मातृ एवम शिशु केंद्र में बड़ी संख्या में गर्भवती महिलाएं इलाज के लिए पहुचती हैं.

सदर अस्पताल के मातृ एवम शिशु केंद्र में बड़ी संख्या में गर्भवती महिलाएं इलाज के लिए पहुचती हैं.

झारखंड में 55 फीसदी से ज्यादा महिलाओं में खून की कमी पाई जाती है. राजधानी के सदर अस्पताल के स्टोर में रखे-रखे हजारों की संख्या में आयरन, फोलिक एसिड, विटामिन डी, कैल्शियम की गोलियां एक्सपायर हो गईं.

  • Share this:
रांची. झारखंड देश के उन राज्यों में शामिल है जहां की 55 प्रतिशत से ज्यादा महिलाओं में खून की कमी पाई जाती है. बुढ़ापे में कैल्शियम की कमी से होने वाले रोग लोगों को परेशान करते हैं. इस स्थिति में अगर आयरन, विटामिन, कैल्शियम की हजारों गोलियां रखे-रखे बर्बाद हो जाएं तो लापरवाही पर सवाल उठाना वाजिब है. संभव है कि राज्य के अन्य जिलों में भी ऐसे मामले जांच में सामने आएं. राजधानी के सदर अस्पताल के स्टोर में रखे-रखे हजारों की संख्या में आयरन, फोलिक एसिड, विटामिन डी, कैल्शियम की गोलियां एक्सपायर हो गईं. अब अपनी गलतियों को छुपाने के लिए सदर अस्पताल के अलग-अलग तल्लों पर कमरों में इन दवाओं को छुपाकर रख दिया गया है. सदर अस्पताल का यह हाल तब है जब कई बुजुर्गों को दवा के लिए इधर-उधर भटकना पड़ता है तो कई को बाहर से दवाएं लेनी पड़ती हैं.

सदर अस्पताल के मातृ एवम शिशु केंद्र में बड़ी संख्या में गर्भवती महिलाएं इलाज के लिए पहुचती हैं. गर्भावस्था में खून की कमी दूर करने के लिए 09 महीने तक विटामिन आयरन की गोली की सलाह डॉक्टर देते हैं. ऐसे में सदर के फार्मासिस्ट के अनुसार इन दवाओं की कमी हो जाती है. सवाल यह कि एक ओर दवाओं की कमी और दूसरी तरह दवाओं की बर्बादी. सदर अस्पताल के फार्मासिस्ट गिरि किशोर कुमार कहते हैं कि कई बार ऐसा हुआ है कि आयरन, कैल्शियम की दवा आउट ऑफ स्टॉक हुई है ऐसे में कैसे दवाएं एक्सपायर्ड हो गईं, यह कहना मुश्किल है.

सदर अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ. सव्यसाची मंडल से जब बड़ी संख्या में दवाओं के बर्बाद होने को लेकर सवाल किया तो उन्होंने मामले की जानकारी न होने का बहाना बनाया. जब News 18 ने उनको पूरे मामले से अवगत कराया तो कहा कि संभव है कि कोरोना की वजह से इन दवाओं की खपत नहीं हुई हो. वह पूरे मामले की जांच करेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज