लाइव टीवी

वायरसेट लगाने के दौरान करंट की चपेट में आने से ITBP हवलदार की मौत

News18 Jharkhand
Updated: November 19, 2019, 10:34 AM IST
वायरसेट लगाने के दौरान करंट की चपेट में आने से ITBP हवलदार की मौत
करंट से हवलदार की मौत पर बटालियन में शोक की लहर दौड़ पड़ी.

मृतक जवान हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के कांगड़ा जिले के नूरपुर थानाक्षेत्र के निहारका गांव का रहने वाला था. और चुनावी ड्यूटी (Election Duty) करने गुमला पहुंचा था.

  • Share this:
गुमला. विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) की ड्यूटी करने सोमवार को गुमला पहुंचे आईटीबीपी (ITBP) के हवलदार 35 वर्षीय शेर सिंह की करंट (Current) लगने से मौत हो गई. मृतक जवान हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले के नूरपुर थानाक्षेत्र के निहारका गांव का रहने वाला था. हवलदार की मौत से 601 बटालियन के जवानों के बीच शोक की लहर दौड़ पड़ी. घटना की सूचना पर सदर थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और पोस्टमार्टम कराकर शव को बटालियन को सुपुर्द कर दिया. बटालियन के पदाधिकारी मृतक जवान के शव को पैतृक गांव भेज दिया.

घटना के संबंध में साथी जवानों ने बताया कि आईटीबीपी 601 बटालियन के पदाधिकारी और जवान चुनावी ड्यूटी करने सोमवार को गुमला पहुंचे थे. सुबह करीब 9 बजे उन्हें लोहरदगा रोड स्थित पॉलटेक्निक कॉलेज में जिला प्रशासन के द्वारा ठहराया गया. हवलदार शेर सिंह वायरलेस सेट लगाने में जुट गये. वायरलेस सेट के एंटीना के लिए वह जैसे ही वायर लगाने लगे, वायर पॉलटेक्निक कॉलेज भवन के समीप से गुजरे हाईवोल्टेज तार में जाकर लटक गया. जिससे हवलदार शेर सिंह करंट की चपेट में आ गए. जब तक वहां मौजूद अन्य जवान कुछ समझ पाते, शेर सिंह की मौत हो चुकी थी. करंट की चपेट में आने से वह गंभीर रूप से झुलस गये थे. आनन-फानन में जवान को सदर अस्पताल ले जाया गया. जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

घटना के बाबत सदर थानाप्रभारी शंकर ठाकुर ने कहा कि करंट की चपेट में आने से आईटीबीपी के हवलदार की मौत हो गई. सभी कागजी कार्रवाई और पोस्टमार्टम के बाद शव को बटालियन को सौंप दिया गया.

(रिपोर्ट- सुशील कुमार)

ये भी पढ़ें- विधायक हत्याकांड में पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह की याचिका पर बहस पूरी, अगली सुनवाई 25 नवंबर को

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 19, 2019, 10:29 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर