Home /News /jharkhand /

ITI Admission 2021: मौका ही मौका! झारखंड के इन 10 औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में सीटें हैं खाली, जल्द लें एडमिशन

ITI Admission 2021: मौका ही मौका! झारखंड के इन 10 औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में सीटें हैं खाली, जल्द लें एडमिशन

झारखंड के 10 ITI में बड़ी संख्या में सीटें खाली हैं.

झारखंड के 10 ITI में बड़ी संख्या में सीटें खाली हैं.

ITI Admission : झारखंड राज्य के सरकारी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों (Industrial Training Institutes) यानी ITI के बारे में बताया जाता है कि संस्थानों में 25 से लेकर 50 प्रतिशत तक सीटें खाली हैं जिनपर अब संस्थान स्तर पर ही जिला स्तरीय समिति की स्वीकृति पर एडमिशन किया जाएगा.

अधिक पढ़ें ...

    रांची. झारखंड के सरकारी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में सीटें रिक्त रह गई हैं. स्थिति यह है कि दो-दो काउंसिलिंग के बाद भी इनमें बड़ी संख्या में सीटें नहीं भरी जा सकी हैं. रांची के अतिरिक्त अन्य शहरों में स्थित संस्थानों की भी यही स्थिति है. अब खाली सीटों को भरने के लिए सभी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों को अपने स्तर से आवेदन मंगाकर नामांकन लेने के निर्देश दिए गए हैं. मिली जानकारी के अनुसार उपायुक्तों की अध्यक्षता में गठित जिला स्तरीय समिति नामांकन की अनुमति दी जाएगी.

    राज्य के सरकारी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों (आइटीआइ) के बारे में बताया जाता है कि संस्थानों में 25 से लेकर 50 प्रतिशत तक सीटें खाली हैं जिनपर अब संस्थान स्तर पर ही जिला स्तरीय समिति की स्वीकृति पर एडमिशन किया जाएगा. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार श्रम, नियोजन, प्रशिक्षण एवं कौशल विकास विभाग ने इसे लेकर सभी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों को निर्देश दे दिए गए हैं. कई संस्थानों ने इसकी प्रक्रिया शुरू भी कर दी है. वेल्डर, प्लंबर आदि कई ऐसे ट्रेड हैं जिनमें कुछ आईटीआई संस्थानों में पूरी की पूरी सीटें ही खाली हैं.

    रांची के आइटीआइ सामान्य में 340, आइटीआइ कल्याण में 119, आइटीआइ महिला में 125 तथा उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र के अभ्यर्थियों के लिए खुले आइटीआइ में 20 सीटें खाली हैं. इसी तरह, आइटीआइ बोकारो में 148, आइटीआइ नवाडीह में 20 सीटें, आइटीआइ सिमडेगा में 137, आइटीआइ बाघमारा में 79, आइटीआइ डालटनगंज में 151 तथा आइटीआइ विश्रामपुर में 106 सीटें रिक्त रह गई हैं. इसी तरह, अन्य संस्थानों में बड़ी संख्या में सीटें रिक्त रह गई हैं.

    बता दें कि औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में दाखिला ट्रेड के अनुसार दसवीं या आठवीं कक्षा के प्राप्तांकों के आधार पर होता है. इसके लिए झारखंड संयुक्त प्रवेश प्रतियोगिता परीक्षा पर्षद द्वारा आवेदन मंगाकर राज्य मेधा सूची तैयार की जाती है. पर्षद ने नामांकन के लिए राज्य मेधा सूची के आधार पर दो-दो बार काउंसिलिंग की। इसके बाद भी संस्थानों में बड़ी संख्या में सीटें रिक्त रह गई हैं.

    राज्य के औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में सीटें क्यों खाली रह गईं? इसके लिए संस्थानों में आधारभूत संरचनाओं की कमी को जिम्मेदार माना जा रहा है. संस्थानों में अनुदेशकों की भी भारी कमी है. प्राचार्यों के पद भी रिक्त हैं. कई संस्थानों में इसकी जिम्मेदारी जिला नियोजन पदाधिकारी संभाल रहे हैं. औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में सभी सीटें नहीं भरतीं. अब अधिक से अधिक सीटों पर नामांकन हो, इसके लिए अब जिला स्तर पर भी दाखिला के निर्देश दिए गए हैं.

    Tags: Admission, Jharkhand news, Ranchi news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर