Jharkhand: बेटा नहीं लाया शराब तो पिता ने उतार दिया मौत के घाट, शव कुएं में फेका

शराब नहीं लाया तो पिता ने अपने 14 साल के बेटे को उतारा मौत के घाट

शराब नहीं लाया तो पिता ने अपने 14 साल के बेटे को उतारा मौत के घाट

एक पिता ने सगे पुत्र की निर्मम तरीके से हत्या कर दी. उसकी हत्या के पीछे की वजह शराब है. आरोप है कि पुत्र ने पिता के आदेश करने के बावजूद उसका 14 साल का बेटा शराब की व्यवस्था नहीं कर सका. इसके बाद उसकी पिटाई कर गला दबा दिया.

  • Share this:

एजाज अहमद.

जमुआ. जमुआ ( Jamua) में रिश्तों को तार-तार करने वाली घटना सामने आई है. यहां एक पिता ने सगे बेटे की निर्मम तरीके से हत्या ( murder) कर दी. उसकी हत्या के पीछे की वजह शराब है. आरोप है कि पिता के आदेश करने के बावजूद उसका 14 साल का बेटा शराब की व्यवस्था नहीं कर सका. इसके बाद उसकी पिटाई कर गला दबा दिया. शव कुएं में फेंक दिया.

गौरतलब है कि जमुआ के सखिया बाद में शुक्रवार को एक किशोर की हत्या का पर्दाफाश करने और हत्यारे को हिरासत में लाने में जमुआ पुलिस को 24 घंटे के अंदर ही सफलता मिल गई. हत्यारा कोई और नहीं किशोर चीकू वर्मा उम्र 14 साल का सगा पिता विनोद वर्मा निकला. बीते शुक्रवार को जमुआ थाना अंतर्गत सकिया बाद के एक कुएं से एक नाबालिग का शव देखा गया था. बाद में इसकी पहचान विनोद वर्मा के पुत्र चिकू वर्मा के रूप में की गई थी. खोरीमहुआ अनुमंडल प्रभारी एसडीपीओ नौशाद आलम ने बताया कि घटना को लेकर मृतक के मामा बेंगाबाद के मोतिलेदा निवासी संजय कुमार वर्मा ने जमुआ पुलिस को लिखित आवेदन दिया था.

एसडीपीओ ने बताया कि उनके निर्देश पर पुलिस अंचल निरीक्षक नवीन कुमार सिंह के देखरेख में अनुसंधान प्रारंभ किया गया. जांच के दौरान मृतक के पिता विनोद महतो द्वारा ही अपने पुत्र की हत्या करने की बता सामने आई. मृतक चीकू बर्मा आरोपी के पहली पत्नी का पुत्र था. आरोपी ने एक व्यक्ति की मदद से घटना को अंजाम दिया. सच को छुपाने के उद्देश्य से शव को कुआं में डाल दिया. वहीं विनोद महतो ने अपना अपराध स्वीकार कर लिया है. रविवार को उसे जेल भेज दिया गया. एक अन्य आरोपी भी जल्द ही पुलिस की गिरफ्त में होगा.
इधर आरोपी विनोद वर्मा ने बताया कि उसकी पहली शादी वर्ष 1993 में मोतिलेदा में हुई थी. पहली पत्नी के लकवाग्रस्त हो जाने के बाद वर्ष 2007 में उसने दूसरी शादी रचाई. गुरुवार शाम में उसने अपने बेटे चीकू वर्मा को गांव से ही शराब खरीदकर लाने को कहा. पुत्र चीकू ने उसके इस बात को मानने से इंकार कर दिया. इसके बाद उसे गुस्सा आ गया और उसके बाद और उसकी मारपीट कर दी. इसमें वह बेहोश हो गया. बाद में एक अन्य व्यक्ति की मदद से बेहोश बेटे को उठाकर गांव के साइड स्थित एक कुआं के पास ले गया. पुलिससिया की जांच में वाह बात सामने आई कि बेहोशी की हालत में चीकू को गर्दन दबा कर मार डाला गया. बाद में शव को कुआं में डाल दिया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज