Assembly Banner 2021

झारखंडः महंगाई, रोजगार पर सड़क से विधानसभा तक हंगामा, बाहर कांग्रेस का प्रदर्शन, भाजपा की सदन में नारेबाजी

नियोजन नीति के मुद्दे पर वेल में उतरकर बीजेपी विधायकों ने जोरदार हंगामा किया.

नियोजन नीति के मुद्दे पर वेल में उतरकर बीजेपी विधायकों ने जोरदार हंगामा किया.

Jharkhand Assembly Budget Session: झारखंड में महंगाई और रोजगार के मुद्दों पर विपक्ष के तेवर काफी तीखे नजर आए. सदन के बाहर कांग्रेस के विधायकों ने जहां पेट्रोल-डीजल और गैस के दामों में बढ़ोतरी के खिलाफ प्रदर्शन किया, तो बीजेपी ने सदन में रोजगार के मुद्दे पर नारेबाजी की.

  • Share this:
रांची. बजट सत्र (Budget Session) के दूसरे दिन सोमवार को झारखंड विधानसभा (Jharkhand Assembly) के बाहर और अंदर जमकर हंगामा हुआ. सदन के बाहर कांग्रेस के विधायकों ने जहां पेट्रोल-डीजल और गैस के दामों में बढ़ोत्तरी के खिलाफ प्रदर्शन किया, वहीं बीजेपी विधायकों ने सदन के अंदर रोजगार से लेकर नियोजन नीति के मुद्दे पर प्रदर्शन किया. हंगामे को देखते हुए स्पीकर को सदन की कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी.

सोमवार को सदन की कार्यवाही शुरू होते ही बीजेपी विधायकों ने प्रश्नकाल को बाधित करते हुए कार्यस्थगन प्रस्ताव को सदन में लाने को लेकर हंगामा शुरू कर दिया. हंगामें को देखते हुये विधानसभा अध्यक्ष रबीन्द्र नाथ महतो ने आसन से कार्यस्थगन के प्रस्ताव को पढ़ा. आजसू विधायक लंबोदर महतो आंदोलनकारियों के मुद्दे पर कार्यस्थगन लाये थे. हजारीबाग के विधायक मनीष जायसवाल ने केरोसिन में मिलावट से हुई घटना पर कार्यस्थगन लाते हुए पीड़ितों के लिए सरकारी नौकरी, मुआवजा और कार्रवाई की मांग की. हटिया से बीजेपी विधायक नवीन जायसवाल ने नियोजन नीति वापस लेने को लेकर कार्यस्थगन प्रस्ताव लाए और इस मुद्दे पर सदन में चर्चा कराने की मांग की. साहेबगंज में बांग्लादेशी घुसपैठ को लेकर बीजेपी विधायक अनंत ओझा भी कार्यस्थगन प्रस्ताव लेकर आए थे.

स्पीकर ने खारिज किए सारे कार्यस्थगन प्रस्ताव


विधानसभा अध्यक्ष ने कार्य स्थगन के सभी प्रस्ताव को ये कहते हुए अमान्य करार दे दिया कि चलते सत्र में इन मुद्दों पर चर्चा के लिये पर्याप्त समय है. अध्यक्ष द्वारा कार्यस्थगन प्रस्ताव को अमान्य करार दिये जाने के बाद बीजेपी के विधायक वेल में आ गए. और नारेबाजी करने लगे. बाद में स्पीकर ने बीजेपी विधायक अमर बाउरी को कार्यस्थगन पढ़ने की अनुमति दी. अमर बाउरी ने रघुवर दास के कार्यकाल में बनाई गई नियोजन नीति को पढ़ा. इसके बाद उनके कार्यस्थगन को भी अमान्य करार दे दिया गया. फिर एक बार बीजेपी विधायक वेल में आकर नारेबाजी करने लगे.

हंगामे की वजह से रोकनी पड़ी कार्यवाही


बीजेपी विधायकों के इस रवैये से नाराज स्पीकर ने कहा कि आसन इससे ज्यादा नहीं झुक सकता है. बीजेपी विधायकों की नारेबाजी के बीच कांग्रेस के विधायक भी वेल में आ गए. दोनों तरफ से हो रही नारेबाजी के बाद सदन की कार्यवाही दोपहर साढ़े 12 बजे तक के लिये स्थगित कर दी गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज