Assembly Banner 2021

Jharkhand Assembly Budget Session: राज्यपाल बोलीं- सरकार का मूल मंत्र विकास, भ्रष्ट्रचार पर जीरो टॉलरेंस की नीति

राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू के अभिभाषण के साथ झारखंड विधानसभा का बजट सत्र शुरू हुआ

राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू के अभिभाषण के साथ झारखंड विधानसभा का बजट सत्र शुरू हुआ

Jharkhand Assembly Budget Session: राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने अपने अभिभाषण में कहा कि कोरोनाकाल में हेमंत सरकार ने बेहतर काम किया है. सरकार का मूल मंत्र विकास है. और इसका सकारात्मक परिणाम जनता महसूस कर रही है.

  • Share this:

रांची. झारखंड विधानसभा (Jharkhand Assembly) का बजट सत्र (Budget Session) शुक्रवार से शुरू हो गया. सत्र के पहले दिन राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) ने अपने अभिभाषण में हेमंत सरकार (Hemant Government) की योजनाओं और उपलब्धियों को गिनाया. राज्यपाल ने कहा कि कोरोनाकाल में राज्य सरकार ने बेहतर काम किया. सरकार का मूल मंत्र विकास है. और इसका सकारात्मक परिणाम जनता महसूस कर रही है. उन्होंने कहा कि राज्य में स्वास्थ्य, चिकित्सा, शिक्षा और ग्रामीण विकास के क्षेत्र में तेजी से काम हो रहा है. कौशल विकास के लिए भी प्रयास किया जा रहा है. वहीं भ्रष्टाचार पर सरकारी की जीरो टॉलरेंस नीति है.


राज्यपाल ने कहा निर्वाचित जनप्रतिनिधियों पर जनता की अपेक्षाएं पूरी करने की जिम्मेदारी होती है. सरकार की ओर से सबकी सहभागिता विकास में सुनिश्चित की जा रही है. सभी क्षेत्रों पर सरकार का फोकस है. अनुसूचित जाति, जनजाति, पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यकों पर खास ध्यान दिया जा रहा है.


राज्यपाल ने कहा कि भ्रष्टाचार पर सरकार की जीरो टॉलरेंस नीति है. निगरानी तंत्र को सशक्त किया जा रहा है. 2021 में भ्रष्टाचार में संलिप्त 51 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. अभी तक 47 कांड दर्ज किए गए हैं. 60 से ज्यादा कांडों का निष्पादन हो गया है.


उन्होंने कहा कि सरकार बिजली वितरण, उत्पादन और संचरण योजनाओं को मजबूत कर रही है. संचरण योजनाओं का शुभारंभ किया गया है. गिरिडीह को सोलर सिटी के तौर पर विकसित किया जा रहा है. मनरेगा की मजदूरी भी बढ़ाई गई. आठ करोड़ मानव दिवस सृजन करने का लक्ष्य है. जल संरक्षण के क्षेत्र में भी काम हो रही है. पौधे लगाने के लिए बिरसा हरित ग्राम योजना की शुरूआत की गई है.


3 मार्च को पेश होगा बजट


हेमंत सरकार 3 मार्च को वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए बजट पेश करेगी. लगभग एक माह तक चलने वाले बजट सत्र में 16 कार्यदिवस होंगे. बजट सत्र के पहले दिन राज्यपाल के अभिभाषण और शोक प्रकाश के बाद सोमवार तक के लिए सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी गई.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज