लाइव टीवी

झारखंड विधानसभा चुनाव: JDU ने जारी किया संकल्प पत्र, शराबबंदी और सुशासन का वादा

News18 Jharkhand
Updated: December 5, 2019, 4:16 PM IST
झारखंड विधानसभा चुनाव: JDU ने जारी किया संकल्प पत्र, शराबबंदी और सुशासन का वादा
झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए जेडीयू ने संकल्प पत्र जारी किया

बिहार सरकार के मंत्री नीरज कुमार (Niraj Kumar) ने कहा कि झारखंड में बदलाव के दस संकल्प की चर्चा की है. सूबे में खनीज संपदा और मानव संसाधन की मौजूदगी के बावजूद विकास नहीं हो रहा है. इसलिए बदलाव जरूरी है.

  • Share this:
रांची. जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) (JDU) ने झारखंड विधानसभा चुनाव (Jharkhand Assembly Election) के लिए घोषणा पत्र (Manifesto) जारी किया. रांची स्थित पार्टी कार्यालय में बिहार सरकार के मंत्री नीरज कुमार और प्रदेश अध्यक्ष सालखन मुर्मू ने इसे जारी करते हुए बदलाव का संकल्प पत्र बताया. इसमें 10 संकल्पों का जिक्र किया गया है. शराबबंदी को सबसे महत्वपूर्ण संकल्प बताया गया है. जबकि महिला सशक्तिकरण, सुशासन और न्याय के साथ विकास के भी वादे किये गये हैं.

संकल्प पत्र जारी करने के बाद बिहार सरकार के मंत्री नीरज कुमार ने कहा कि जेडीयू पार्टी विथ डिफरेंस के लिए जानी जाती है. इसलिए घोषणा पत्र नहीं, संकल्प पत्र जारी किया है. बिहार के लिए सात निश्चय और झारखंड में बदलाव के दस संकल्प की चर्चा की है. सूबे में खनीज संपदा और मानव संसाधन की मौजूदगी के बावजूद विकास नहीं हो रहा है. इसलिए बदलाव जरूरी है.

प्रदेश जेडीयू अध्यक्ष सालखन मुर्मू ने कहा कि बाकी पार्टियों के पास झूठे वादे और असंभव घोषणाएं हैं. उनमें उसी की प्रतिस्पर्धा चल रही है. जबकि जेडीयू झारखंड को नया और बेहतर बनाना चाहती है. बदलाव लाना चाहती है. यहां की जनता के लिए न तो बीजेपी और न ही जेएमएम ने कोई काम किया है. केवल ठगने का काम किया है.

बता दें कि जेडीयू झारखंड में अकेले अपने दम पर विधानसभा चुनाव लड़ रही है. हालांकि पार्टी अध्यक्ष और बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने प्रचार से खुद को दूर रखा है. झारखंड में दूसरे चरण के विधानसभा चुनाव के लिए गुरुवार को प्रचार का शोर थम गया. दूसरे चरण में जमशेदपुर, खूंटी समेत 20 विधानसभा क्षेत्रों में 7 दिसंबर को वोट डाले जाएंगे. इस चरण में कई दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर है. इनमें सीएम रघुवर दास, पूर्व मंत्री सरयू राय, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा, मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा, स्पीकर दिनेश उरांव शामिल हैं. इस चरण में 231 पुरुष और 29 महिला प्रत्याशी किस्मत आजमा रहे हैं. कुल 5784 बूथों में से 1844 को अतिसंवेदनशील माना गया है.

(इनपुट- नौशाद आलम)

ये भी पढ़ें- CM रघुवर दास बोले- दोबारा सरकार बनी, तो बड़े शहरों में बनेंगे पुलिस कमिश्नरी

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 5, 2019, 4:15 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर