लाइव टीवी

कांग्रेस को झारखंड में हेमंत सोरेन के नेतृत्व से नहीं है कोई परहेज, JMM को माना बड़ा भाई

Amitesh | News18 Jharkhand
Updated: October 14, 2019, 7:03 PM IST
कांग्रेस को झारखंड में हेमंत सोरेन के नेतृत्व से नहीं है कोई परहेज, JMM को माना बड़ा भाई
जेएमएम के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन (फाइल फोटो)

धीरज साहू ने साफ तौर पर कहा कि जेएमएम (JMM) के कार्यकारी अध्यक्ष (Hemant Soren) ही अगले विधानसभा चुनाव (Assembly Election) में विपक्षी गठबंधन की तरफ से मुख्यमंत्री पद के दावेदार होंगे.

  • Share this:
रांची. झारखंड में विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन (Hemant Soren) को मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर स्वीकार करने में कोई परेशानी नहीं है. कांग्रेस (Congress) की तरफ से इस बात के संकेत झारखंड से कांग्रेस के राज्यसभा सांसद धीरज साहू (Dhiraj Sahu) ने दिए. न्यूज18 से बातचीत करते हुए धीरज साहू ने साफ कर दिया कि कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने पहले ही इस बारे में हेमंत सोरेन को आश्वासन दे दिया है.

धीरज साहू ने साफ तौर पर कहा कि जेएमएम के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ही अगले विधानसभा चुनाव में विपक्षी गठबंधन की तरफ से मुख्यमंत्री पद के दावेदार होंगे. हालांकि, अभी सीट बंटवारे को लेकर अभी तक कोई अंतिम फैसला नहीं हुआ है. उन्होंने कहा कि सीट बंटवारे के मसले को भी जल्द सुलझा लिया जाएगा.

दरअसल, राज्य की कुल 81 सीटों में से जेएमएम 41 से 45 सीटों पर अपनी दावेदारी कर रही है, जबकि कांग्रेस अपने लिए 35 सीटें मांग रही है. इसके अलावा बाबूलाल मरांडी की जेवीएम 15 से ज्यादा सीटें चाह रही है. दूसरी तरफ, विपक्षी कुनबे में आरजेडी 14 और लेफ्ट भी 15 से ज्यादा सीटों पर अपना दावा कर रही है.

लेकिन, बाबूलाल मरांडी हेमंत सोरेन की अगुआई में चुनाव लड़ने के इच्छुक नहीं हैं. उनकी पार्टी चाहती है कि चुनाव बाद मुख्यमंत्री पद पर फैसला किया जाए. मरांडी ने अपने चुनाव अभियान की शुरुआत भी कर दी है. ऐसे में माना जा रहा है कि वे अलग होकर अकेले अपने दम पर विधानसभा चुनाव में उतर सकते हैं.

दूसरी तरफ, आरजेडी और लेफ्ट का दावा भी कांग्रेस और जेएमएम के लिए परेशानी का कारण हो सकता है. लेकिन, कांग्रेस का दावा है कि एकबार जेएमएम और कांग्रेस के बीच गठबंधन की गांठ सुलझ जाए और सीटों का बंटवारा हो जाए तो फिर, आरजेडी और लेफ्ट जैसे सहयोगी दलों को साथ लाने में कोई परेशानी नहीं होगी.

कांग्रेस की तरफ से हेमंत सोरेन की मुख्यमंत्री पद पर दावेदारी के साथ-साथ जेएमएम को बड़ी पार्टी भी बताया जाना बातचीत के पटरी पर होने की ही उम्मीद दिलाता है. धीरज साहू ने बडे भाई की भूमिका के सवाल पर साफ-साफ शब्दों में कहा कि जेएमएम झारखंड में बड़ी पार्टी है. लेकिन, सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस चाहती है कि मुख्यमंत्री पद पर हेमंत सोरेन को लेकर कांग्रेस की हामी के बदले कांग्रेस के खाते में कुछ सीटें ज्यादा मिले यानी त्याग हेमंत सोरेन और उनकी पार्टी जेएमएम करे.

ये भी पढ़ें- 
Loading...

झारखंड: कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष का ऐलान- 35 सीटों पर लड़ेंगे विधानसभा चुनाव

मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना: 11 लाख किसानों को भेजी गई पहली किस्त

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 14, 2019, 5:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...