लाइव टीवी

झारखंड विधानसभा चुनाव 2019: बीजेपी छोड़ अन्य दलों की एक फेज में चुनाव कराने की मांग

News18 Jharkhand
Updated: October 17, 2019, 10:01 PM IST
झारखंड विधानसभा चुनाव 2019: बीजेपी छोड़ अन्य दलों की एक फेज में चुनाव कराने की मांग
राजनीतिक दलों के बाद चुनाव आयोग की टीम ने सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस और सीआरपीएफ के आला अधिकारियों के साथ बैठक की.

कांग्रेस (Congress), जेएमएम (JMM), राजद (RJD), वामदल (Left Parties) के अलावा बीजेपी (BJP) के सहयोगी आजसू (AJSU) ने भी एक फेज में ही चुनाव (Assembly Election) कराने का आग्रह किया. हालांकि बीजेपी ने सूबे की भौगोलिक स्थिति का हवाला देते पांच फेज में चुनाव कराने की मांग आयोग (Election Commission) के सामने रखी.

  • Share this:
रांची. दो दिवसीय दौरे पर रांची पहुंची चुनाव आयोग (Election Commission) की टीम ने गुरुवार को राजनीतिक दलों (Political Parties) के साथ बैठक की. होटल रेडिसन ब्लू में आयोजित इस बैठक में बीजेपी (BJP) को छोड़कर अन्य दलों ने ज्यादा फेज में चुनाव नहीं कराने की मांग की. कांग्रेस (Congress), जेएमएम (JMM), राजद (RJD), वामदल (Left Parties) के अलावा बीजेपी की सहयोगी आजसू पार्टी (AJSU) ने भी एक फेज में ही चुनाव कराने का आग्रह किया. हालांकि बीजेपी ने सूबे की भौगोलिक स्थिति का हवाला देते हुए 2014 की तरह इस बार भी पांच फेज में विधानसभा चुनाव (Assembly Election) कराने की मांग रखी.

दलों ने रखी ये मांगें

बीजेपी ने बंग्लादेशी घुसपैठियों के वोटर बनने पर रोक लगाने की मांग की. साथ ही संवेदनशील बूथों पर विशेष चौकसी और वोटर्स के निवास स्थान के दो किलोमीटर के अंदर ही मतदान केन्द्र होने की भी मांग रखी.

>>जेएमएम ने एक फेज में चुनाव कराने, सत्ता का दुरुपयोग रोकने की मांग की

>>जेवीएम ने चुनाव के दौरान न्यूज के साथ व्यूज के प्रकाशन पर रोक लगाने की मांग की

>>सीपीआई ने दो चरणों में चुनाव कराने और सरकारी पैसे का दुरुपयोग रोकने और ईवीएम की बजाय बैलेट पेपर से मतदान कराने की मांग की

>>कांग्रेस ने एक फेज में मतदान, सरकारी मशीनरी के दुरुपयोग पर रोक लगाने की मांग की
Loading...

>>आजसू ने हर बूथ पर सुरक्षा बलों की तैनाती, एक चरण में मतदान की मांग की.

पुलिस और सीआरपीएफ अधिकारियों के साथ बैठक 

राजनीतिक दलों के बाद चुनाव आयोग की टीम ने सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस और सीआरपीएफ के आला अधिकारियों के साथ बैठक की. उप निर्वाचन आयुक्त सुदीप जैन के नेतृत्व में हुई इस बैठक में एडीजी मुरारी लाल मीणा, सीआरपीएफ आईजी संजय लाटकर, पुलिस प्रवक्ता साकेत सिंह और राज्य मुख्य निर्वाचन अधिकारी विनय कुमार चौबे मौजूद थे. बैठक के बाद सीआरपीएफ आईजी संजय लाटकर और एडीजी मुरारी लाल मीणा ने निष्पक्ष चुनाव का भरोसा दिलाया.

शुक्रवार को पहले राज्य के सभी जिलों के डीसी-एसपी के साथ बैठक होगी. उसके बाद मुख्य सचिव, गृह सचिव और डीजीपी के साथ आयोग की टीम अलग से बैठक करेगी. ऐसी संभावना है कि अक्टूबर के अंत तक झारखंड विधानसभा चुनाव की घोषणा हो जाएगी.

ये भी पढ़ें- झारखंड विधानसभा चुनाव 2019: संकल्प पत्र तैयार करने में जुटी BJP, जनता से मांगे सुझाव

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 17, 2019, 9:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...