Home /News /jharkhand /

झारखंड विधानसभा में नमाज कक्ष का मामला पहुंचा हाईकोर्ट, याचिकाकर्ता ने कहा- स्पीकर को कमरा आवंटित करने का अधिकार नहीं

झारखंड विधानसभा में नमाज कक्ष का मामला पहुंचा हाईकोर्ट, याचिकाकर्ता ने कहा- स्पीकर को कमरा आवंटित करने का अधिकार नहीं

झारखंड विधानसभा में नमाज कक्ष का मसला हाईकोर्ट पहुंच गया है.

झारखंड विधानसभा में नमाज कक्ष का मसला हाईकोर्ट पहुंच गया है.

Namaz Controversy in High court: याचिकाकर्ता के वकील राजीव कुमार ने बताया कि विधानसभा अध्यक्ष को नमाज के लिए कक्ष आवंटित करने का अधिकार नहीं है. विधानसभा जनता के पैसों से बना है. इसलिए उस परिसर में नमाज के लिए कमरा आवंटित करना असंवैधानिक है.

अधिक पढ़ें ...

    इनपुट- संजय सिन्हा

    रांची. झारखंड विधानसभा (Jharkhand Assembly) में नमाज (Namaz) पढ़ने को लेकर अलग से एक कमरा आरक्षित करने का मामला अब हाईकोर्ट (Jharkhand High court) पहुंच गया है. इस मामले में झारखंड हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई है. भैरव सिंह नाम के शख्स ने इसको लेकर याचिका दाखिल की है. याचिका में उन्होंने जिक्र किया है कि विधानसभा अध्यक्ष के पास किसी धर्म विशेष को लेकर विधानसभा में कमरा आरक्षित करने का अधिकार नहीं है. इसको लेकर संविधान के 42वें संशोधन का हवाला दिया गया है. साथ ही हाईकोर्ट से इस मामले में न्यायिक समीक्षा की मांग की गई है.

    याचिका में कहा गया है कि पब्लिक के पैसे से बने किसी भी भवन या परिसर को किसी धर्म विशेष के लिए नहीं दिया जा सकता. याचिकाकर्ता ने विधानसभा स्पीकर की ओर से जारी आदेश को निरस्त करने की मांग की है.

    याचिकाकर्ता के वकील राजीव कुमार ने बताया कि विधानसभा अध्यक्ष को नमाज के लिए कक्ष आवंटित करने का अधिकार नहीं है. संविधान संशोधन में धर्मनिरपेक्षता को जोड़ते हुए कहा गया है कि राज्य सरकार ना तो किसी धर्म को बढ़ावा देगी और ना ही उसे संरक्षित करेगी. विधानसभा जनता के पैसों से बना है. इसलिए उस परिसर में नमाज के लिए कमरा आवंटित करना असंवैधानिक है.

    बता दें कि झारखंड विधानसभा में स्पीकर रवींद्र नाथ महतो के आदेश पर 2 सितंबर को नमाज पढ़ने के लिए कमरा नंबर TW-348 अलॉट किया गया है. इसके बाद इस पर सियासत शुरू हो गई है. बीजेपी सदन से लेकर सड़क तक इसको लेकर विरोध जता रही है. पिछले दो दिन इस मुद्दे पर सदन की कार्यवाही नहीं चलने दी जा रही है.

    Tags: Jharkhand Politics, Ranchi High Court, Ranchi news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर