Assembly Banner 2021

Jharkhand: आज खुलेगा हेमंत सोरेन सरकार के बजट का पिटारा, हर आम-ओ-खास को उम्मीद

हेमंत सरकार इस बार बजट के आकार में बढ़ोतरी कर सकती है. (फाइल फोटो)

हेमंत सरकार इस बार बजट के आकार में बढ़ोतरी कर सकती है. (फाइल फोटो)

Jharkhand Budget 2021-22: चालू वित्तीय वर्ष का बजट आकार 86,370 करोड़ था, जो इस बार 90 हजार करोड़ के आसपास रह सकता है. बजट में गांव, गरीब, किसान, महिलाओं, युवाओं, कमजोर और वंचित तबके पर खास ध्यान होगा.

  • Share this:
रांची. झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार (Hemant Government) आज राज्य विधानसभा में वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए बजट (Budget) पेश करेगी. वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव (Finance Minister Rameshwar Oraon) बजट का पिटारा खोलेंगे. ऐसी संभावना है कि सरकार के इस बजट में कोरोना काल में उपजीं विषम परिस्थितियों से उबरने के प्रयास दिखाई देंगे. इस बजट पर बेरोजगारों समेत हर आम-ओ-खास की उम्मीदों भरी निगाहें टिकी हुई हैं. माना जा रहा है कि बजट में गांव, गरीब, किसान, महिलाओं, युवाओं, कमजोर और वंचित तबके पर भी खास ध्यान होगा. आर्थिक चुनौतियों के बावजूद हेमंत सरकार बजट के आकार में करीब चार हजार करोड़ की वृद्धि कर सकती है. बता दें कि चालू वित्तीय वर्ष का बजट आकार 86,370 करोड़ था, जो इस बार 90 हजार करोड़ के आसपास रह सकता है.

बजट में गठबंधन सरकार के संयुक्त एजेंडे की भी झलक देखने को मिलेगी. रोजगार के भी उपाय होंगे. जीवन और जीविका की चुनौतियों से उबरने के लिए भी प्रावधान होंगे. निजी क्षेत्र में रोजगार के अवसर सृजित करने के लिए 75 फीसद आरक्षण का नीतिगत निर्णय लिया जा सकता है.

नियुक्तियों और किसान कर्ज माफी को लेकर घोषणाएं संभव
सरकार ने इस वर्ष को नियुक्तियों का वर्ष घोषित किया है. बजट में इससे जुड़ी घोषणाएं होने की पूरी संभावना है. किसानों के हितों को लेकर छिड़ी बहस को देखते हुए किसानों के लिए ऋण माफी योजना को अगले वित्तीय वर्ष भी जारी रखे जाने की संभावना है. इस बाबत 1500 करोड़ का बजटीय प्रावधान किया जा सकता है. आधारभूत संरचना के विकास पर भी जोर होगा.
बजट में होगा जरूरत पर जोर


अनावश्यक ढांचागत निर्माण की जगह जरूरत पर जोर होगा. राजकोषीय घाटे को सीमा में बांधने की कोशिशों को लचीला किया जाएगा. वहीं मौजूदा परिस्थितियों में सरकार नया टैक्स लगाने से परहेज करेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज