Assembly Banner 2021

Jharkhand Budget 2021: किसान कर्जमाफी के लिए 1200 करोड़, गुरुजी किचन योजना की होगी शुरुआत, यहां पढ़ें बजट की बड़ी बातें

हेमंत सरकार ने 91270 करोड़ का बजट पेश किया.

हेमंत सरकार ने 91270 करोड़ का बजट पेश किया.

Jharkhand Budget 2021: झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार ने नये वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए 91,270 करोड़ का बजट पेश किया है. इसमें शिक्षा के क्षेत्र में जहां ओपन यूनिवर्सिटी खोलने की घोषणा की गई है, वहीं किसानों के लिए भी सरकार ने कई योजनाओं का प्रस्ताव तैयार किया है.

  • Share this:
रांची. झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार ने नये वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए बजट (Jharkhand Budget 2021) पेश कर दिया है. वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव ने 91,270 करोड़ का बजट सदन में पेश किया. इसमें किसानों की कर्जमाफी से लेकर रोजगार सृजन तक के लिए विशेष प्रावधान किये गये हैं. गरीबों के लिए गुरुजी किचन योजना शुरू की जाएगी. हालांकि विपक्ष ने हेमंत सरकार के बजट को जनता को गुमराह करने वाला बजट बताया है.

बजट की बड़ी बातें

1- 91 हजार 270 करोड़ का बजट पेश, बीजेपी विधायकों के हंगामे के बीच वित्त मंत्री ने पेश किया बजट. बजट की शुरुआत वीर शहीदों के नाम के साथ हुई.



2- वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव ने इसे ऑउटकम बजट बताया है. 48 पेज के बजट भाषण में सरकार ने राजस्व व्यय 75,755 करोड़ और पूंजीगत व्यय 15,521 करोड़ का दिखाया.
3 -बीजेपी विधायक इंद्रजीत महतो को बाहर निकाला गया. सदन में विसिल बजा रहे थे



4- बजट में सामान्य प्रक्षेत्र के लिये 26 हजार 734 करोड़, सामाजिक प्रक्षेत्र के लिये 33 हजार 625 करोड़, आर्थिक प्रक्षेत्र के लिये 30 हजार 917 करोड़ दिए गए हैं.

5- राजस्व कर 23 हजार 265 करोड़, गैर कर राजस्व 13 हजार 500 करोड़, केंद्रीय सहायता से 17 हजार 891 करोड़, केंद्रीय करों में राज्य की हिस्सेदारी 22 हजार 50 करोड़ दिखाई गई है.

6- लोक ऋण से 14 हजार 500 करोड़, उधार एवं अग्रिम वसूली से 70 करोड़.

7- आगामी 2021- 22 में राजकोषीय घाटा 10 हजार 210 करोड़ का अनुमान, GSDP का 2.83 प्रतिशत.

8- कृषि ऋण माफी के लिये 1200 करोड़, किसान समृद्धि योजना के लिये 45 करोड़ 83 लाख रुपया प्रस्तावित.

9- राज्य में 5 हजार पौष्टिक गृह वाटिका के लिये 2 करोड़ रुपया, चैंबर ऑफ फार्मर्स का गठन के लिये 7 करोड़ का प्रस्ताव.

10- 24 शीत गृह एवं लघु शीत गृह की स्थापना के लिये 31 करोड़ रुपया, राज्य फसल राहत योजना के लिये 50 करोड़ रुपया.

11- गोट एस्टेट की स्थापना, खूंटी में चूजा प्रजनन केंद्र की स्थापना, गो मुक्ति धाम की स्थापना, जोड़ा बैल वितरण की योजना.

12- प्रतिदिन लगभग 80 लाख लीटर दूध उत्पादन का लक्ष्य, मसलिया मेगलिफ्ट सिंचाई योजना.

13- 50 हजार सखी मंडलों को चक्रीय निधि एवं 20 हजार सखी मंडलों को सामुदायिक निधि उपलब्ध कराया जाएगा.

14- बिरसा हरित ग्राम योजना के तहत 25 हजार एकड़ भूमि पर कार्य करने का लक्ष्य, बाबा साहेब भीम राव अम्बेडकर आवास योजना के 3 हजार नये आवास बनाने का लक्ष्य, 2 लाख 45 हजार नये पक्का आवास बनाने की योजना,

13- 2000 किमी ग्रामीण सड़कों का सुदृढ़ीकरण एवं 75 ग्रामीण पुल निर्माण का लक्ष्य, 117 नये एम्बुलेंस संचालन का लक्ष्य और गुरु जी किचन योजना की शुरुआत.

14- 15 लाख लाभुकों को 1 रुपया में 5 किलो चावल, पीएम योजना के तहत 67 हजार 938 आवास बनाने का लक्ष्य, शहीद ग्राम विकास योजना के तहत 5 करोड़ की राशि.

15- मुख्यमंत्री रोजगार सृजन योजना के तहत 12 करोड़ की राशि, टार्गेटिंग दी हार्ड कोर पुअर प्रोजेक्ट के तहत गरीबी की जटिलता से निकालने का लक्ष्य.

16- अल्प संख्यक समुदाय के छात्रों के लिये कोचिंग एंड एलायड योजना की योजना, लुगुबुरु एवं रजरप्पा में वृहद पर्यटन गंतव्य के रूप में विकसित करने की योजना.

17- शहरी वानिकी योजना नामक नई योजना की शुरुआत, इलेक्ट्रिक वीकल पालिसी गठित करने का प्रस्ताव, 5 करोड़ का बजटीय प्रबंधन.

18- माइनिंग कॉरिडोर का निर्माण के साथ-साथ गिरिडीह , धनबाद , देवघर में रिंग रोड का निर्माण किया जाएगा, मुख्यमंत्री प्रोत्साहन योजना लागू की जाएगी.

19- बंधुआ मजदूर के पुरर्वास के लिये हर जिले में 10 लाख रुपया का कोपर्स फंड का गठन किया जाएगा.

20- झारखंड असंगठित कर्मकार सामाजिक सुरक्षा योजना के तहत 1 लाख 50 श्रमिको को लाभ देने का लक्ष्य. जयपाल सिंह मुंडा पारदेशीय छात्रवृत्ति योजना के तहत 10 ST छात्रों को शिक्षा,

20- झारखंड खुला विश्वविद्यालय की स्थापना की जाएगी, यूनिवर्सल पेंशन योजना शुरू की जाएगी, पलाश ब्रांड को बढ़ावा देने की योजना.

21- कुपोषण हटाने के लिये साझा पोषण कार्यक्रम की शुरुआत, धोती, साड़ी एवं लुंगी का वितरण की योजना, जल जीवन मिशन के तहत 15 हजार एकल ग्रामीण जलापूर्ति योजना का निर्माण.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज