दिल्‍ली में केसी वेणुगोपाल से मिलने के बाद बोले इरफान अंसारी- आलाकमान सब देख रहा, जल्‍द होगा संगठन में बदलाव

दिल्‍ली में केसी वेणुगोपाल से विधायकों के साथ मिले झारखंड कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष इरफान अंसारी. (फोटो साभार- Dr Irfan Ansari)

Jharkhand Congress: झारखंड के चार कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी, उमाशंकर अकेला, राजेश कच्छप और ममता देवी ने आज दिल्‍ली में कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव केसी वेणुगोपाल से मुलाकात की. इससे पहले ये सभी झारखंड के प्रभारी आरपीएन सिंह से भी मिल चुके हैं.

  • Share this:
झारखंड/ नई दिल्‍ली. झारखंड कांग्रेस (Jharkhand Congress) में संकट की खबरों के बीच आज चार कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी (MLA Irfan Ansari) , उमाशंकर अकेला, राजेश कच्छप और ममता देवी ने दिल्ली में कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव केसी वेणुगोपाल (KC Venugopal) से मुलाकात की. झारखंड की राजनीति को लेकर यह मुलाकात करीब 45 मिनट तक वेणुगोपाल के आवास पर चली. बता दें कि ये चारों विधायक इससे पहले झारखंड के प्रभारी आरपीएन सिंह से भी मिल चुके हैं.

इस मुलाकात के बाद विधायक और झारखंड कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष इरफान अंसारी ने कहा कि राष्ट्रीय महासचिव केसी वेणुगोपाल को संगठन की विस्तृत रिपोर्ट सौंपी है, जिसमें किसने कोरोना में कैसा काम किया जैसी बातें शामिल हैं. इसके अलावा उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस आलाकमान देख रहा है. इस साथ अंसारी ने कहा कि मैं मंत्री और संगठन में होता तो एक पद छोड़ देता.

आरपीएन सिंह से हुई थी बात
इसके अलावा झारखंड कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष इरफान अंसारी ने कहा कि इससे पहले प्रभारी आरपीएन सिंह से बात हुई थी. उस समय या तो आप मंत्री रहिए या अध्यक्ष को लेकर चर्चा हुए थी. इसके साथ उन्‍होंने झारखंड कांग्रेस के अध्‍यक्ष का नाम लिए बिना कहा कि उन्‍हें स्वेच्छा से हट जाना चाहिए, क्‍योंकि वह दो पदों पर काबिज हैं. उन्‍हें आलाकमान क्यों हटाए ?

कार्यकर्ताओं को लेकर रखी बात
कांग्रेस विधायक अंसारी ने कहा कि अब तक बीस सूत्री कार्यक्रम के तहत कार्यकर्ता को नहीं एडजस्ट नहीं कर पाए हैं. इन सभी मुद्दों पर आलाकमान से अच्छा रेस्‍पॉन्‍स मिला है. हम एसी गाड़ी में बैठने वाले और बयानबाजी करने वाले नहीं हैं. वहीं, आलाकमान खुली आंखों से देख रहा हैं कि कौन काम कर रहा है और कौन नहीं?

विधायक अकेला ने कही ये बात
इसके अलावा विधायक उमाशंकर अकेला ने कहा कि कांग्रेस की नीति एक व्यक्ति और एक पद की है. जिन पर दो पद हैं, वह स्वेच्छा से छोड़ें पद या फिर पार्टी उन्‍हें इस्‍तीफा देने की बात कहे. एक व्‍यक्ति एक पद पर रहेगा तो इससे दो विधायक को पद मिल जाता है और इससे संगठन को मजबूती मिलती है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.