Home /News /jharkhand /

Analysis: झारखंड में कांग्रेस की Hidden Politics ! ST सीट के लिए अपना रही यह खास रणनीति

Analysis: झारखंड में कांग्रेस की Hidden Politics ! ST सीट के लिए अपना रही यह खास रणनीति

कांग्रेस के नये प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर के नेतृत्व में संगठन को धारदार बनाने और नये तेवर के साथ आगे बढ़ाने पर काम हो रहा है.

कांग्रेस के नये प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर के नेतृत्व में संगठन को धारदार बनाने और नये तेवर के साथ आगे बढ़ाने पर काम हो रहा है.

Jharkhand Politics: कांग्रेस का पहला राजनीतिक लक्ष्य प्रदेश की 28 अनुसूचित जनजाति (ST) सीट पर अपनी मजबूत उपस्थिति दर्ज करना है. फिलहाल इस 28 सीट पर दलगत स्थिति को देखे, तो सबसे ज्यादा 20 सीट जेएमएम (JMM) के पास है, जबकि 6 कांग्रेस और 2 बीजेपी के खाते में है.

अधिक पढ़ें ...

रांची. झारखंड में इन दिनों कांग्रेस (Jharkhand Congress) का जनजागरण कार्यक्रम चल रहा है. वैसे तो इस कार्यक्रम का उद्देश्य बढ़ती महंगाई के खिलाफ आम जनता के बीच केंद्र सरकार के चेहरे को उजागर करना है. मगर असल राजनीति राज्य के सियासी मैदान पर कांग्रेस के हाथ को मजबूत करने की है. कांग्रेस का पहला राजनीतिक लक्ष्य प्रदेश की 28 अनुसूचित जनजाति (ST) सीट पर अपनी मजबूत उपस्थिति दर्ज करना है. फिलहाल इस 28 सीट पर दलगत स्थिति को देखे, तो सबसे ज्यादा 20 सीट जेएमएम (JMM) के पास है, जबकि 6 कांग्रेस और 2 बीजेपी के खाते में है. जहां मुख्य विपक्षी दल बीजेपी एक खास रणनीति और राज्य सरकार की विफलताओं के दम पर एसटी सीट पर वापसी करने को लेकर बेकरार दिख रही है. वहीं सत्ता में साथ-साथ कदमताल कर रही कांग्रेस की नजर अपने ही सहयोगी दल जेएमएम की एसटी सीट पर टिकी है.

कांग्रेस के जन जागरण कार्यक्रम (Jan Jagran Programme) की शुरुआत पर नजर दौड़ाये तो राजनीति के अंदर खाने पक रही इस खिचड़ी की खुशबू का अहसास होगा. कांग्रेस ने अपने दो प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष गीता कोड़ा और बंधु तिर्की को आगे कर एसटी सीट को साधने का लक्ष्य तय किया है. गीता कोड़ा प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष होने के साथ-साथ पश्चिम सिंहभूम लोकसभा सीट से सांसद भी है. कोल्हान प्रमंडल में गीता कोड़ा की मजबूत पकड़ है और कांग्रेस में शामिल होने से पहले भी उनकी पार्टी का इस इलाके में मजबूत आधार रहा है.

ईसाई समुदाय के बीच भी लोकप्रिय हैं बंधु तिर्की

वहीं बंधु तिर्की को कोल्हान प्रमंडल का प्रभारी बनाया गया है. बंधु कांग्रेस के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष के साथ-साथ मुखर विधायक भी है. बंधु तिर्की की लोकप्रियता आदिवासी समाज के साथ – साथ ईसाई समाज के बीच भी है. कोल्हान प्रमण्डल में जनजागरण कार्यक्रम के बहाने कांग्रेस ने अपने पुराने साथी और वोट बैंक का समर्थन हासिल करने में बहुत हद तक सफलता भी पाई है . झारखंड में कांग्रेस का राजनीतिक लक्ष्य आदिवासी-ईसाई-मुस्लिम-पिछड़ा के साथ-साथ अगड़ी जाति को जोड़ना है.

नए प्रदेश अध्यक्ष के ऊपर है बड़ी जिम्मेदारी

प्रदेश कमिटी के प्रमुख चेहरों पर अगर गौर करें तो कांग्रेस के इस दांव को आप आसानी से समझा जा सकता है. हां ये बात जरूर है कि संथाल परगना की ST सीट को साधने के लिये कांग्रेस के पास कोई बड़ा संथाली चेहरा नहीं है. पर संथाल की दूसरी सीट पर कांग्रेस की स्थिति को कमजोर आंकना भूल होगी. कांग्रेस के नये प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर के नेतृत्व में संगठन को धारदार बनाने और नये तेवर के साथ आगे बढ़ाने पर काम हो रहा है. राजेश ठाकुर के समक्ष कांग्रेस के कद्दावर और पुराने नेताओं को साथ लेकर चलने की है. जो इतना आसान भी नहीं है और ना मुमकिन भी नहीं .

Tags: Jharkhand Congress, Jharkhand news, Jharkhand Politics, JMM, Ranchi news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर