झारखंड: सबसे तेजी से हजारीबाग में फैल रहा Corona, दूसरे स्थान पर राजधानी रांची
Ranchi News in Hindi

झारखंड: सबसे तेजी से हजारीबाग में फैल रहा Corona, दूसरे स्थान पर राजधानी रांची
झारखंड में फिलहाल एक्टिव केस 4689 हैं, जबकि 4050 लोग स्वस्थ हो चुके हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

स्वास्थ्य सचिव (Health Secretary) ने बताया कि राज्य में कोरोना मरीजों (Corona Patients) की रिकवरी रेट 43.68 फ़ीसदी है. जबकि अब तक 86 लोगों की मौत हो चुकी है.

  • Share this:
रांची. झारखंड में कोरोना के बढ़ते संक्रमण (Corona Infection) को लेकर राज्य सरकार (Jharkhand Government) की ओर से इससे निबटने को लेकर तैयारियों की जानकारी दी गई. स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव नितिन मदन कुलकर्णी, आपदा प्रबंधन विभाग के सचिव अमिताभ कौशल और परिवहन सचिव के रवि कुमार ने संयुक्त प्रेसवार्ता कर राज्य में कोरोना के ताजा हालात की जानकारी दी. स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव ने बताया कि इस समय राज्य में कुल एक्टिव केस (Active Cases) 4689 हैं, जबकि 4050 लोग स्वस्थ हो चुके हैं. 23 लोग ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं. 22 लोग वेंटिलेटर पर हैं. 536 लोग राज्यभर में होम आइसोलेशन में है, जिसमें सबसे ज्यादा 196 लोग रांची में हैं.

राज्य में मरीजों की रिकवरी रेट 43.68 फ़ीसदी

स्वास्थ्य सचिव ने बताया कि राज्य में मरीजों की रिकवरी रेट 43.68 फ़ीसदी है. जबकि अबतक 86 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है. राज्यभर में 6922 सामान्य बेड की व्यवस्था सरकार ने कर रखी है. इसके अलावा 2411 डीसीएचसी बेड भी तैयार हैं. इसमें 1956 बेड में ऑक्सीजन सपोर्ट की सुविधा है, वहीं 58 बेड में वेंटिलेटर की सुविधा उपलब्ध है.



 वर्तमान में 705 कंटेनमेंट जोन
स्वास्थ्य सचिव के मुताबिक रांची में कुल 670 बेड की व्यवस्था की गई है. इसके अलावा 500 बेड खेल गांव में सुनिश्चित किए गए हैं. रांची में संक्रमण की दर 4.75% फ़ीसदी है, जबकि हजारीबाग में सबसे ज्यादा 5.66 फ़ीसदी संक्रमण की दर है. राज्य में कुल 1072 कंटेनमेंट जोन में से 377 कंटेनमेंट जोन को हटाया लिया गया है. वर्तमान में मात्र 705 कंटेनमेंट जोन हैं.

बाहर से आ रहे लोगों की वजह से बढ़ रहा संक्रमण

स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि दूसरे राज्यों से झारखंड आ रहे लोगों की वजह से ही प्रदेश में संक्रमण बढ़ रहा है. उन्होंने कहा कि बाहर से आने वाले सभी लोगों को 14 दिन के क्वारंटाइन में रहना होगा. हालांकि कार्गो और भारत सरकार के अधिकारी पर यह नियम लागू नहीं होगा.

कोरोना नियमों के उल्लंघन पर दंड के आदेश को लेकर उन्होंने कहा कि अपराध की गंभीरता पर ही दंड तय किये जाएंगे. शादी में नियम के विपरीत ज्यादा लोगों को आमंत्रित करने पर सबसे ज्यादा दंड का प्रावधान है. वही मास्क नहीं लगाने पर न्यूनतम दंड होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading