• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • झारखंड : दिहाड़ी मजदूर और सब्‍जी बेचने वाले चले थे दो लाख में विधायक खरीदने!

झारखंड : दिहाड़ी मजदूर और सब्‍जी बेचने वाले चले थे दो लाख में विधायक खरीदने!

अपने फल-सब्जी की दुकान पर निवारण प्रसाद. (फाइल फोटो)

अपने फल-सब्जी की दुकान पर निवारण प्रसाद. (फाइल फोटो)

horse trading : परिजनों के मुताबिक, निवारण प्रसाद महतो बोकारो में सब्जी और फल की रेहड़ी लगाते हैं, जबकि अमित सिंह दिहाड़ी मजदूर के तौर पर काम करते हैं. पुलिस ने दोनों को दो दिन पहले बोकारो से यह कहकर उठाया था कि एक मामले में पूछताछ करनी है. एक-डेढ़ घंटे में छोड़ दिया जाएगा.

  • Share this:
रांची. झारखंड की हेमंत सरकार को गिराने की साजिश में शामिल पुलिस के स्पेशल ब्रांच ने जिन तीन लोगों को गिरफ्तार किया है, उसपर लोग संदेह जता रहे हैं. पुलिस ने इस तीनों की गिरफ्तारी लीलैक होटल में छापेमारी के दौरान दिखाई है. पुलिस का दावा है कि इनके पास से करीब 2 लाख रुपए बरामद किए गए हैं. गिरफ्तार आरोपियों की पहचान अभिषेक दुबे, अमित सिंह और निवारण प्रसाद महतो के रूप में हुई है. इन तीनों के खिलाफ कोतवाली थाने में आईपीसी की धारा 419, 420 124-ए, 120 बी, 34 और पीआर एक्ट की धारा 171 के साथ पीसी एक्ट की धारा 8/9 भी लगाई गई है.

गिरफ्तार आरोपियों के परिजन पुलिस के दावे को गलत बताते हुए इस मामले में कहते हैं कि पुलिस ने इन्हें दो दिन पहले बोकारो के उनके घरों से उठाया था. परिजनों के मुताबिक, निवारण प्रसाद महतो बोकारो में सब्जी और फल की रेहड़ी लगाते हैं, जबकि अमित सिंह दिहाड़ी मजदूर के तौर पर काम करते हैं. पुलिस ने दोनों को दो दिन पहले बोकारो से यह कहकर उठाया था कि एक मामले में पूछताछ करनी है. एक-डेढ़ घंटे में छोड़ दिया जाएगा.

परिजनों के मुताबिक, अमित सिंह बीएसएल बोकारो में ठेका मजदूर के तौर पर काम करते हैं, जबकि निवारण प्रसाद महतो फल के कारोबार से जुड़े हैं और दुंदीबाग में फल की दुकान है. 2019 में वे जीतन राम मांझी की हम पार्टी से विस चुनाव लड़ चुके हैं. वहीं, अभिषेक दुबे ने इंजीनियरिंग की हुई है. इसके पिता की पलामू के जपला में जनवितरण प्रणाली की दुकान है. इसके दादा गोरख दुबे जपला सीमेंट फैक्ट्री में काम करते थे.

इधर पुलिस का दावा है कि ये लोग झारखंड के एक दर्जन विधायकों के संपर्क में थे. पूरा मामला विधायकों को खरीदने से जुड़ा हुआ है. इस मामले में पुलिस की टीम होटल लीलैक पहुंची थी. सीसीटीवी सहित अन्य दस्तावेज भी खंगाले गए थे. फिलहाल कोतवाली थाने में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है.

बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने इस मामले में ट्वीट कर तंज किया है. उन्‍होंने लिखा कि अब तो 2 लाख में 4 आदमी मिलकर झारखंड में विधायक खरीद रहे हैं. झारखंड के विधायकों की कीमत मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन ने 10 हजार रुपये लगा दी है. बकरीद में तो बकरे की कीमत भी इससे कई गुना ज्‍यादा होती है. इस मामले में पूर्व मुख्‍यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने निशिकांत दुबे को टैग करते हुए ट्वीट किया - अंधेर नगरी-चौपट राजा. मालिक अगर अंधा हो जाए तो बिल्लियां थाली में साथ खाएंगी ही.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज