लाइव टीवी

Lockdown में खेती चौपट! झारखंड सरकार ने किसानों के लिए केन्द्र से मांगा विशेष पैकेज
Ranchi News in Hindi

Upendra Kumar | News18 Jharkhand
Updated: April 9, 2020, 1:52 PM IST
Lockdown में खेती चौपट! झारखंड सरकार ने किसानों के लिए केन्द्र से मांगा विशेष पैकेज
झारखंड सरकार ने किसानों के लिए केन्द्र से विशेष पैकेज की मांग की है.

कृषि मंत्री बादल पत्रलेख (Badal Patralekh) ने कहा कि कोरोना (Corona) महामारी के क्रम में राज्य में पांच हजार दीदी किचन चलाया जा रहा है, जहां दाल-चावल उपलब्ध हैं. सब्ज़ियां ग्रामीण क्षेत्र में बर्बाद हो रही हैं. इससे किसानों (Farmers) काे क्षति हो रही है.

  • Share this:
रांची. केंद्रीय कृषि मंत्री ने लॉकडाउन (Lockdown) से कृषि पर पड़ने वाले असर की समीक्षा वीडियो कॉन्फ्रंसिंग के माध्यम से की. समीक्षा बैठक में झारखंड के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख (Badal Patralekh), कृषि सचिव पूजा सिंघल के साथ साथ कई पदाधिकारियों ने शिरकत की. इस दौरान केन्द्रीय कृषि मंत्री ने बताया कि भारत सरकार की ओर से लॉकडाउन में कृषि संबंधी कार्य में आवश्यक छूट प्रदान की गई है. इस सिलसिले में केन्द्र के निर्देश को सभी जिलों को अवगत करा दिया गया है. झारखण्ड के कृषि मंत्री ने केंद्रीय कृषि मंत्री से राज्य के लिए विशेष पैकेज (Special Package) की मांग की.

'दस हजार रुपया प्रति किसान की मांग'

झारखंड के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने बताया कि राज्य में 35 लाख किसान हैं. इनके लिए दस हजार रुपया प्रति किसान विशेष पैकेज केन्द्र प्रदान करे. वहीं झारखंड मिल्क फेडरेशन के द्वारा प्रतिदिन एक लाख 30 हजार लीटर दूध संग्रहित किया जाता है, परंतु वर्तमान में मात्र 35 हजार लीटर दूध की ही बिक्री हो पा रही है. शेष दूध को गरीबों के बीच वितरित किए जाने की आवश्यकता है. इसके लिए प्रतिमाह 12 करोड़ रुपये मिल्क फेडरेशन को दिए जाने की आवश्यकता होगी. इस प्रकार कुल छह माह के लिए 72 करोड़ रुपये का पैकेज दिया जाए.



'सब्जियों की बर्बादी से किसान परेशान'



बादल पत्रलेख ने कहा कि कोरोना महामारी के क्रम में राज्य में पांच हजार दीदी किचन चलाया जा रहा है, जहां दाल-चावल उपलब्ध हैं. सब्ज़ियां ग्रामीण क्षेत्र में बर्बाद हो रही हैं. इससे किसानों काे क्षति हो रही है. उन सब्ज़ियों को दीदी किचन में उपलब्ध कराने के लिए तीस हजार रुपया प्रति किचन की दर से प्रति माह 13 करोड़ रुपये की आवश्यकता होगी. इस प्रकार कुल छह महीने के लिए 81 करोड़ रुपया विशेष पैकेज दिया जाए.

 'पशु चारे की भी दिक्कत'

बैठक में ये भी बताया गया कि झारखंड में पशु चारा की दिक्कत हो रही है. यह चारा ज्यादातर बिहार और बंगाल से आता है. ऐसे में इस दिशा में संबंधित राज्यों को आवश्यक निर्देश दिया जाए. कृषि मंत्री बादल ने कहा कि झारखंड सरकार अपने स्तर से किसानों को हर संभव मदद पहुंचा रही है. लेकिन उन्हें केंद्र सरकार से भी मदद की पूरी आशा है.

ये भी पढ़ें- झारखंड में आगे बढ़ सकता है लॉकडाउन, डॉक्टरों की सलाह पर 13 को फैसला लेगी सरकार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 9, 2020, 1:51 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading