Home /News /jharkhand /

झारखंड के 62,866 पारा शिक्षकों के लिए अच्छी खबर, अब से कहे जाएंगे सहायक अध्यापक

झारखंड के 62,866 पारा शिक्षकों के लिए अच्छी खबर, अब से कहे जाएंगे सहायक अध्यापक

झारखंड सरकार की तरफ से बुधवार को पारा शिक्षकों की सेवाशर्त नियमावली के प्रस्ताव के साथ मंजूरी मिली

झारखंड सरकार की तरफ से बुधवार को पारा शिक्षकों की सेवाशर्त नियमावली के प्रस्ताव के साथ मंजूरी मिली

jharkhand News: बुधवार को राज्य सरकार की तरफ से पारा शिक्षकों की सेवाशर्त नियमावली के प्रस्ताव के साथ मंजूरी मिली. इसके बाद पारा शिक्षकों को इसका लाभ दिया जाएगा. ईपीएफ की सरकार मद की ओर से दी जाने वाली राशि मानदेय बढ़ोतरी के अतिरिक्त होगी. सेवा शर्त नियमावली में भी इसकी चर्चा रहेगी कि केंद्र द्वारा राशि नहीं देने पर पारा शिक्षकों को हटाया नहीं जाएगा और उनकी राशि का वहन राज्य सरकार करेगी

अधिक पढ़ें ...

रांची. झारखंड के 62 हजार पारा शिक्षकों (Para Teachers) इम्प्लाई प्रोविडेंट फंड (ईपीएफ) का लाभ दिया जाएगा. इसमें शिक्षकों के मानदेय से छह प्रतिशत राशि कटेगी और शेष छह प्रतिशत की राशि राज्य सरकार देगी. स्कूली शिक्षा व साक्षरता विभाग ने इसके लिए प्रस्ताव तैयार किया है जिस पर वित्त विभाग ने अपनी अनापत्ति (एनओसी) दे दी है. बुधवार को राज्य सरकार की तरफ से पारा शिक्षकों की सेवाशर्त नियमावली (Rule Book) के प्रस्ताव के साथ मंजूरी मिली. इसके बाद पारा शिक्षकों को इसका लाभ दिया जाएगा. ईपीएफ की सरकार मद की ओर से दी जाने वाली राशि मानदेय बढ़ोतरी के अतिरिक्त होगी.

पारा शिक्षकों की सेवा शर्त नियमावली की मंजूरी के बाद अब राज्य के पारा शिक्षक एक जनवरी से सहायक अध्यापक कहलाएंगे. साथ ही, उनके मानदेय में भी बढ़तरी हो जाएगी. टीईटी पास पारा शिक्षकों का जहां 50 फीसदी, वहीं, सिर्फ प्रशिक्षित पारा शिक्षकों के मानदेय में 40 फीसदी की बढ़ोतरी होगी. ऐसे में पहली से पांचवीं कक्षा में पढ़ाने वाले प्रशिक्षित पारा शिक्षक (सहायक अध्यापक) को 4,800 रुपये का मानदेय बढ़ने के बाद 1,008 रुपये ईपीएफ के लिए अंशदान के रूप में देना होगा. जबकि छठी से आठवीं के सिर्फ प्रशिक्षित पारा शिक्षकों को 1,092 रुपये देने होंगे. इसके अलावा पहली से पांचवीं के टीईटी पास पारा शिक्षकों को 1,260 रुपये और छठी से आठवीं के टीईटी पास पारा शिक्षकों को 1,350 रुपये ईपीएफ में अंशदान के रूप में देने होंगे. इतनी ही राशि राज्य सरकार अपने मद से ईपीएफ में देगी.

सेवा शर्त नियमावली में भी इसकी चर्चा रहेगी कि केंद्र द्वारा राशि नहीं देने पर पारा शिक्षकों को हटाया नहीं जाएगा और उनकी राशि का वहन राज्य सरकार करेगी.

नया मानदेय और ईपीएफ में अंशदान
पहली से पांचवीं के सिर्फ प्रशिक्षित 16800 1008
छठी से आठवीं के सिर्फ प्रशिक्षित 18200 1092
पहली से पांचवीं के टेट पास 21000 1260
छठी से आठवीं के टेट पास 22500 1350

Tags: CM Hemant Soren, EPF, EPFO account, Jharkhand Government, Jharkhand news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर