Assembly Banner 2021

रांची: रिम्स में सिटी स्कैन समेत जरूरी मशीन नहीं, HC ने लगाई अस्पताल प्रबंधन को फटकार


झारखंड हाईकोर्ट ने रिम्स प्रबंधन और स्वास्थ्य सचिव को भी जमकर फटकार लगाई.

झारखंड हाईकोर्ट ने रिम्स प्रबंधन और स्वास्थ्य सचिव को भी जमकर फटकार लगाई.

Jharkhand High Court: हाईकोर्ट ने सूबे के सबसे बड़े अस्पताल पर टिप्पणी करते हुए कहा कि रिम्स एक रेफरल अस्पताल हैं, जहां मरीज रेफर होकर पहुंचते हैं. लेकिन कोरोना काल में रिम्स की तैयारियों में गंभीरता नजर नहीं आ रही. कोर्ट ने तमाम मशीनों को शुक्रवार तक खरीदने या फिर खरीदने की तारीख बताने का समय दिया है.

  • Share this:
रांची. झारखंड हाईकोर्ट में दायर जनहित याचिका पर गुरुवार को दो अहम मुद्दों पर सुनवाई हुई. पहले मामले में जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने राजधानी में बड़ा तालाब, जलाशयों और डैम के आसपास हो रहे अतिक्रमण पर नगर आयुक्त और जिला प्रशासन को फटकार लगाई. हाईकोर्ट ने पूछा कि शहर के बड़ा तालाब और जलाशयों को बचाने और वहां से अतिक्रमण हटाने को लेकर अबतक क्या प्रयास किए गए.

याचिकाकर्ता राजीव कुमार सिंह की ओर से दायर जनहित याचिका पर सुनवाई के इस दौरान कांके डैम, धुर्वा डैम, रुक्का के आसपास की सैकड़ों एकड़ जमीन को हड़पने का भी जिक्र उठा. बड़ा तालाब में हुए सौंदर्यीकरण पर नगर आयुक्त को शपथ पत्र दाखिल करने के निर्देश दिया गया. चीफ जस्टिस डॉ. रवि रंजन और जस्टिस सुजीत नारायण प्रसाद की खंडपीठ में हुई सुनवाई के दौरान नगर विकास सचिव, उपायुक्त और नगर आयुक्त अदालत के समक्ष वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उपस्थित रहे. मामले की अगली सुनवाई के लिए 2 सप्ताह बाद की तिथि निर्धारित की है

वहीं दूसरी जनहित याचिका पर हुई सुनवाई में रिम्स प्रबंधन और स्वास्थ्य सचिव को भी जमकर फटकार लगाई गई. मामला रिम्स में पिछले एक साल से जनोपयोगी मशीनों की खरीद नहीं होने को लेकर है. हाईकोर्ट ने इस मामले में स्वत: संज्ञान लिया है. दरअसल रिम्स में दो सिटी स्कैन, IFT, कैथलैब और इकोकार्डियोग्राफी मशीन की खरीद नहीं हो पायी है. जिससे मरीजों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है.



हाईकोर्ट ने इन तमाम मशीनों को कल शुक्रवार तक खरीदने या फिर खरीदने की तारीख बताने का समय दिया है. हाईकोर्ट ने सूबे के सबसे बड़े अस्पताल पर टिप्पणी करते हुए कहा कि रिम्स एक रेफरल अस्पताल हैं जहां मरीज रेफर होकर पहुंचते हैं. लेकिन कोरोना काल में रिम्स की तैयारियों में गंभीरता नजर नहीं आ रही.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज