• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • झारखंड सरकार का दावा - प्रदेश में तैयार हो रहे 72 पीएसए प्लांट... लेकिन किस चाल से?

झारखंड सरकार का दावा - प्रदेश में तैयार हो रहे 72 पीएसए प्लांट... लेकिन किस चाल से?

पीएसए प्लांट के लिए प्रतीकात्मक तस्वीर

पीएसए प्लांट के लिए प्रतीकात्मक तस्वीर

झारखंड सरकार का दावा है कि सभी ज़िलों में बच्चों के लिए विशेष वार्ड तैयार करवाए जाने के साथ ही ऑक्सीजन संकट से निपटने के लिए भी कोशिश की जा रही है. हालांकि चर्चा यही है कि इन प्लांटों का काम किस गति से चल रहा है.

  • Share this:

रांची. कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए झारखंड सरकार पहले से ही कई इंतज़ाम कर रही है. इसी क्रम में सदर अस्पताल में PICU और HDU वार्डों का उद्घाटन स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने किया, तो राज्य भर में बच्चों के इलाज के लिहाज़ से कई ज़िलों में इस तरह के स्पेशल वार्ड तैयार करवाए जा रहे हैं. वहीं महत्वपूर्ण खबर यह भी कि तीसरी लहर की तैयारी के लिहाज़ से राज्य भर में 72 पीएसए प्लांट तैयार करवाए जा रहे हैं. यह एक बड़ा कदम माना जा रहा है क्योंकि दूसरी लहर के दौरान झारखंड ही नहीं ​बल्कि पूरे देश में कई मरीज़ों को ऑक्सीजन सपोर्ट की ज़रूरत पड़ी थी.

पीडियाट्रिक कैटेगरी में आयु सीमा नवजात से लेकर 18 वर्ष तक की है. पीडियाट्रिक आईसीयू कई सुविधाओं से लैस हैं. HFNC वेंटिलेटर/मॉनिटर, मूवेबल xray, बायोपैप एवं सभी उपकरणों की सुविधाएं हैं. पीडियाट्रिक आईसीयू संचालन के लिए पारा मेडिकल कर्मियों का प्रशिक्षण रानी चिल्ड्रन अस्पताल में कराया गया. रांची के सदर अस्पताल में बच्चों के लिए अतिरिक्त HDU बनाए गए हैं, जहां बच्चों के मनोरंजन और खेलने के लिए भी इंतज़ाम हैं. सदर अस्पताल में पीडियाट्रिक आईसीयू में कुल 51 बेड हैं, जिनमें से 27 आईसीयू और 24 एसडीयू बेड हैं.

ये भी पढ़ें : रांची से पहली बार लखनऊ के लिए सीधी फ्लाइट, भुवनेश्वर के लिए हुआ ये बड़ा ऐलान

प्रदेश भर में तैयार हो रहे 72 पीएसए प्लांट
उद्घाटन के मौके पर स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि सरकार गंभीर है ताकि कोविड की तीसरी लहर में लोगों को परेशानी का सामना नहीं करना पड़े. झारखंड सरकार 72 पीएसए प्लांट भी तैयार करवा रही है. आपको बता दें कि पीएसए ऑक्सीजन प्लांट वो यूनिट होती है, जहां वातावरण की हवा से ऑक्सीजन संकेंद्रित की जाती है. इसकी क्षमता डिमांड के हिसाब से 2 Nm3/hr से लेकर 200 Nm3/hr तक हो सकती है.

jharkhand news, covid third wave, corona third wave, third wave in jharkhand, झारखंड न्यूज़, कोविड तीसरी लहर, कोरोना तीसरी लहर, झारखंड में तीसरी लहर

वार्ड उद्घाटन कार्यक्रम के लिए सदर अस्पताल पहुंचे स्वास्थ्य मंत्री.

क्या है प्लांटों के दावों की हकीकत
तीसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी न हो, इसको लेकर पीएसए प्लांट लगाने के निर्देश थे. पीएम केयर फंड से 38 पीएसए प्लांट लगने थे, जिनकी समयसीमा 30 जुलाई तक थी. न्यूज़18 ने आपको हाल में खबर दी थी कि इस दौरान सभी प्लांटों की पाइपलाइन बिछाने और उसे शुरू करना था, लेकिन समयसीमा पार होने के बावजूद न तो सूबे के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स का काम पूरा हुआ और न ही रांची के सदर अस्पताल का. हालांकि दोनों ने कहा कि जल्द ही काम पूरा हो जाएगा. अब स्वास्थ्य मंत्री ने 72 प्लांटों के बारे में तैयारी की बात कही है.

ये भी पढ़ें : 38 पीएसए प्लांट में से एक भी चालू नहीं, झारखंड में ऐसी है कोरोना थर्ड वेब की तैयारी

एक करोड़ होंगे वैक्सीनेट
स्वास्थ्य मंत्री गुप्ता ने इस मौके पर यह भी कहा कि स्कूलों के लिए गाइडलाइन जारी की गई है. जीवन के साथ जीविका चले, इसे लेकर सरकार गंभीर है. वहीं, वैक्सिनेशन के बारे में गुप्ता ने कहा कि आने वाले 2 से 3 दिनों में प्रदेश में एक करोड़ लोग वैक्सिनेट हो जाएंगे. अब तक 10 लाख लोगों को दूसरा डोज़ लग चुका है. बहरहाल कोविड की तीसरी लहर को देखते हुए राज्य में जो इंतज़ाम किए जा रहे हैं, उनके तहत 20 हज़ार ऑक्सीजन बेड की तैयारी है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज