वैक्सीन वेस्टेज पर सियासत तेज, झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री ने किया पलटवार


बन्ना गुप्ता ने कहा कि 'आंकड़ों की बाजीगरी और फर्जी आंकड़े जारी करने का क्या मकसद है?

बन्ना गुप्ता ने कहा कि 'आंकड़ों की बाजीगरी और फर्जी आंकड़े जारी करने का क्या मकसद है?

केंद्र सरकार के जारी आंकड़े के बाद झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने बुधवार को ट्वीट कर कहा है कि 'फर्जी आंकड़ों से देश को गुमराह करने की कोशिश की जा रही है. उन्होंने कहा कि झूठ फरेब और जुमलेबाजी के सहारे केंद्र सरकार झारखंड को बदनाम कर रही है.

  • Share this:

रांची. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी किए गए आंकडो़ं के अनुसार झारखंड को सप्लाई हुई कुल वैक्सीन का 37.3 प्रतिशत बर्बाद हुआ है. झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार ने दावा किया है कि वैक्सीन की बर्बादी के आंकड़े गलत हैं, राज्य में इसका प्रतिशत केवल 4.65 है. इस मसले पर सियासत भी तेज हो गई है. हेमंत सोरेन के मंत्री ने केंद्र पर आंकड़ों की बाजीगरी का आरोप लगाया है. मुख्यमंत्री कार्यालय की तरफ से ट्वीट कर कहा गया है कि झारखंड सरकार के पास आज तक टीके की कुल खुराक की उपलब्धता के अनुसार वर्तमान वैक्सीन के बर्बादी का अनुपात केवल 4.65% है. झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता (Banna Gupta Health minister) ने भी इस आरोप को साबित करने की चुनौती केंद्र सरकार और बीजेपी नेताओं को दी है. गुप्ता ने कहा कि हमने एक करोड़ वैक्सीन का ऑर्डर किया है, परन्तु हमें सिर्फ 5 लाख वैक्सीन 18-44 आयु वर्ग के लिए मिली है। हमारे पास कुल 6,52,000 वैक्सीन बचे हैं. भ्रामक प्रचार किया जा रहा है कि हमारा वेस्टेज 37% है जबकि हमारा वेस्टेज 4.65% है:

मंत्री के मुताबिक, सरकार लगातार वैक्सीन उपलब्ध कराने का प्रयास कर रही है. हमारे पास वैक्सीन देने के लिए है नहीं, ऐसे में क्या हम उसका बेजा इस्तेमाल करेंगे. केंद्र सरकार हमारे साथ वैक्सीन के मामले में सौतेला व्यवहार कर रही है. कोविड संकट में जिस तरह मदद करना चाहिए केंद्र को मदद कर नहीं रही है.

केंद्र सरकार के जारी आंकड़े के बाद झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने बुधवार को ट्वीट कर कहा है कि 'फर्जी आंकड़ों से देश को गुमराह करने की कोशिश की जा रही है. उन्होंने कहा कि झूठ फरेब और जुमलेबाजी के सहारे केंद्र सरकार झारखंड को बदनाम कर रही है. बन्ना गुप्ता ने कहा कि 'आंकड़ों की बाजीगरी और फर्जी आंकड़े जारी करने का क्या मकसद है? क्या इसी तरह के फर्जी आंकड़ों के साथ पूरे देश को गुमराह किया जा रहा है?' उन्होंने झारखंड में वैक्सीनेशन और वैक्सीन की उपलब्धता को लेकर आंकड़ा भी जारी करते हुए पूछा कि प्रधानमंत्री से इस पर ध्यान देने की अपील की है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज