झारखंड: किसानों की कर्ज माफी में क्या फेल हो गई हेमंत सोरेन सरकार, जानें- क्यों उठ रहे सवाल?

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन. फाइल फोटो.

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन. फाइल फोटो.

Ranchi News: झारखंड (Jharkhand) में किसानों (Farmers) के नाम पर कर्ज माफी की राजनीति का ढोल पीटने वाली कांग्रेस (Congress) समर्थित हेमंत सोरेन सरकार (Hemant Soren Government) की पोल खुलती नजर आ रही है.

  • Share this:
रांची. झारखंड (Jharkhand) में किसानों (Farmers) के नाम पर कर्ज माफी की राजनीति का ढोल पीटने वाली कांग्रेस (Congress) समर्थित हेमंत सोरेन सरकार (Hemant Soren Government) की पोल खुलती नजर आ रही है. विपक्ष कर्जमाफी के वायदे पर सरकार के फेल होने की बात कह रहा है. दरअसल  9 लाख किसानों को कर्ज माफी की सौगात देने का दावा करने वाली हेमंत सोरेन सरकार 31 मार्च तक मात्र 1 लाख 95 हजार 755 किसानों को ही इसका लाभ दे पाई. कर्ज माफी के नाम पर 2 हजार करोड़ का बजट रखने वाले कृषि विभाग ने पहले 1 हजार करोड़ रुपये सरेंडर किए और अब बचे हुए 1 हजार करोड़ में 786 करोड़ ही खर्च कर पाई है. हालांकि ये आंकड़ा महज दो माह में हासिल किया गया है. राजनीतिक बयानबाजी से इतर 1 फरवरी से किसानों की कर्ज माफी की ऑन लाइन शुरुआत की गई थी.

झारखंड में कर्ज माफी के नाम पर राशि की बात करे तो ये 786 करोड़ के आस -पास है. मतलब कर्जमाफी के नाम पर 2 हजार करोड़ रुपयाें का बजट रखने वाली कृषि विभाग ने पहले 1 हजार करोड़ रुपये सरेंडर किए और उसके बाद बचे हुए 1 हजार करोड़ में भी करीब 214 करोड़ रुपये खर्च नहीं कर पाई. हालांकि विभाग के लिहाज से ये किसी सफलता से कम नहीं , क्योंकि राजनीतिक बयानबाजी से इतर कर्ज माफी पर कागजी प्रक्रिया 1 फरवरी से शुरू हो पाई थी.

कर्ज माफी में देवघर अव्वल,साहेबगंज फिसड्डी

कर्ज माफी को लेकर अब तक राज्य के 5 लाख किसानों के डेटा एंट्री का काम पूरा हो चुका है. इसमें से 2 लाख किसानों के EKYC की प्रक्रिया भी पूर्ण की जा चुकी है. कर्ज माफी की दौड़ में राज्य के जिलों पर नजर दौड़ाये तो राज्य के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख का जिला देवघर सबसे आगे है. देवघर के करीब 19 हजार किसानों को कर्ज माफी का लाभ मिल चुका है , जबकि गिरिडीह , रांची , चाईबासा जैसे जिलों से भी हजारों किसानों को कर्ज माफी का लाभ मिला है । सबसे कम साहेबगंज जिला के किसानों को कर्ज माफी का लाभ मिल पाया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज