होम /न्यूज /झारखंड /'देश की पहली घटना, जिसमें सीएम पूछ रहा कि मेरी सजा क्या है..', अयोग्यता के मुद्दे पर हेमंत सोरेन

'देश की पहली घटना, जिसमें सीएम पूछ रहा कि मेरी सजा क्या है..', अयोग्यता के मुद्दे पर हेमंत सोरेन

झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि अगर मैं मुजरिम हूं तो हमें सजा सुना दी जाए. ANI

झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि अगर मैं मुजरिम हूं तो हमें सजा सुना दी जाए. ANI

Jharkhand politics: अयोग्यता के मुद्दे पर झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा है कि जहां तक झारखंड में राजनीतिक अस ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

मैं खुद के लिए सजा मांग रहा हूंः हेमंत सोरेन
हमारे विरोधी षड़यंत्र रच रहेः सीएम

रांची. अयोग्यता के मुद्दे पर झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बड़ा बयान दिया है. सोरेन ने कहा कि जहां तक झारखंड में राजनीतिक अस्थिरता का सवाल है तो मुझे लगता है कि ऐसी कोई अस्थिरता नहीं है. राज्य में सब कुछ सामान्य है. यह एक कृत्रिम बवंडर है.

मुख्यमंत्री ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा- ‘आप अयोग्यता के मुद्दे, चुनाव आयोग और राज्यपाल का जिक्र कर रहे हैं. इस पर मैं कहना चाहता हूं कि यह भारत में पहली ऐसी घटना है, जिसमें सीएम चुनाव आयोग और राज्यपाल के दरवाजे पर जाते हैं और हाथ जोड़कर पूछते हैं कि उनकी सजा क्या होनी चाहिए. सीएम तो खुद पूछ रहे हैं कि उनकी सजा के बारे में उन्हें बताया जाए.’

मैं खुद के लिए सजा मांग रहा हूंः हेमंत सोरेन
झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि यह माहौल हमारे द्वारा नहीं बनाया गया है. यह हमारे प्रतिद्वंद्वियों द्वारा बनाया गया है. क्या आपने कभी किसी अपराधी को सजा की मांग करते देखा है? अगर मैं अपराधी हूं तो मुझे सजा दी जाए.

हमारे विरोधी षड़यंत्र रच रहेः सीएम
उन्होंने कहा कि यह हमारे विरोधियों द्वारा षड्यंत्र रचने का काम किया जा रहा है. झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि अगर मैं मुजरिम हूं तो हमें सजा सुना दी जाए. अगर मैं गुनहगार हूं और इतने दिनों तक सजा नहीं सुनाई जा रही है तो मैं इस पद पर किस हैसियत से बैठा हूं? इसका जवाब उनको देना है.

हेमंत सोरेन ने क्यों दिया बयान?
मुख्यमंत्री यह बातें उस सील बंद लिफाफे के संदर्भ में कह रहे हैं जो चुनाव आयोग की तरफ से झारखंड के राज्यपाल को भेजी थी. सूत्रों की मानें तो इसमें आयोग ने लाभ के पद पर होने का आरोप लगाते हुए सोरेन की सदस्यता रद्द करने की सिफारिश राज्यपाल रमेश बैस को भेजी है. इसके बाद से हेमंत सोरेन लगातार हमलावर हैं.

Tags: Hemant soren, Jharkhand news, Jharkhand Politics, Ranchi news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें