• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • Jharkhand News: खनिज ढोने वाले ट्रकों को अब देना होगा टोल टैक्स, राज्‍य सरकार को होगी 700 करोड़ की आय

Jharkhand News: खनिज ढोने वाले ट्रकों को अब देना होगा टोल टैक्स, राज्‍य सरकार को होगी 700 करोड़ की आय

New Toll Tax News: झारखंड सरकार ने खनिज ले जाने वाले भारी वाहनों ने टोल टैक्‍स लगाने का फैसला किया है. (न्‍यूज 18)

New Toll Tax News: झारखंड सरकार ने खनिज ले जाने वाले भारी वाहनों ने टोल टैक्‍स लगाने का फैसला किया है. (न्‍यूज 18)

New Toll Tax: खनिज संसाधन ढोने वाले भारी वाहनों पर नया टोल टैक्‍स लगाने का फैसला किया गया है. हेमंत सोरेन कैबिनेट की बैठक में इस बाबत पेश किए गए प्रस्‍ताव को हरी झंडी दी गई. इससे राज्‍य सरकार को सालाना 700 करोड़ रुपये की आय होने की संभावना है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    अविनाश कुमार

    रांची. झारखंड के विभिन्न खनन क्षेत्रों से खनिज ले जाने वाले भारी वाहनों को अब टोल टैक्स देना होगा. राज्य मंत्रिमंडल ने मंगलवार को यह निर्णय लिया. राज्य कैबिनेट समन्वय विभाग की सचिव वंदना दडेल ने कहा कि उनके संचालन के तौर-तरीकों पर काम किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि खनिज ढोने वाले वाहनों पर टोल टैक्स लगाने से राज्य सरकार को सालाना लगभग 700 करोड़ रुपये राजस्व मिलने की संभावना है.

    वंदना दडेल ने कहा, ‘टोल टैक्स की दरें विभिन्न स्थानों पर अलग-अलग होंगी. कैबिनेट ने मंगलवार को इन्हें मंजूरी दे दी है. सड़क निर्माण विभाग चुनिंदा सड़कों पर टोल वसूली के लिए निर्धारित प्वाइंट बनाएगा.’ वंदना ने ई-एफआईआर पुलिस थानों के बारे में कहा कि खूंटी और रामगढ़ को छोड़कर 22 जिलों में ई-एफआईआर पुलिस थाने खोले जाएंगे. लोग उन मामलों में ई-एफआईआर दर्ज कर सकते हैं जहां आरोपी की पहचान अज्ञात है और पुलिस थानों में शिकायतकर्ता के आने की आवश्यकता नहीं है.

    राज्य मंत्रिमंडल ने मंगलवार को कुल 17 प्रस्तावों पर विचार किया. मंत्रिमंडल ने झारखंड अक्षय ऊर्जा विकास प्राधिकरण (जेआरईडीए) को केंद्र सरकार की सोलर सिटी परियोजना के क्रियान्वयन के लिए 80.75 करोड़ रुपये की मंजूरी दी.

    काम की खबर: झारखंड के 22 जिलों में नहीं लगाने होंगे थानों के चक्‍कर, ऑनलाइन दर्ज करा सकेंगे FIR

     कैबिनेट सचिव ने बताया कि पहले चरण में गिरिडीह जिले को सोलर सिटी के रूप में विकसित किया जाएगा. केंद्र के दिशानिर्देशों के अनुसार, 3 लाख रुपये से कम वार्षिक आय वाले परिवारों को रूफटॉप सौर ऊर्जा प्रणाली स्थापित करने के लिए 100 प्रतिशत सब्सिडी दी जाएगी. 3 लाख रुपये से अधिक की आय वाले परिवारों को 70 प्रतिशत सब्सिडी दी जाएगी, जिसमें केंद्र और राज्य का हिस्सा क्रमश: 40 और 30 प्रतिशत होगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज