Jharkhand: पहले चरण में एक करोड़ लोगों को लगेगी वैक्सीन, कोरोना वॉरियर्स को सबसे पहले

झारखंड में कोरोना वैक्सीन की तैयारियां करीब-करीब पूरी हैं. (फोटो- AP)

झारखंड में कोरोना वैक्सीन की तैयारियां करीब-करीब पूरी हैं. (फोटो- AP)

कोरोना वैक्सीन की तैयारियों को लेकर गुरुवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने समीक्षा बैठक की. उन्होंने टीकाकरण और कोल्ड चेन मैनेजमेंट से जुड़ी तैयारियों की जानकारी ली.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 8, 2021, 9:02 AM IST
  • Share this:
रांची. कोरोना वायरस से जूझ रहे झारखंड के लिए अच्छी खबर आई है. कोरोना वैक्सीन के पहले चरण में राज्य के एक करोड़ लोगों को यह वैक्सीन लगाई जाएगी. राज्य के डेढ़ लाख हेल्थ वर्कर्स और करीब 2 लाख फ्रंट लाइन वर्कर्स को मुफ्त में यह वैक्सीन लगाई जाएगी. इसके साथ ही वैक्सीन लगवाने वालों को डिजिटल सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा. कोरोना की यह वैक्सीन मकर संक्राति के बाद लगाई जा सकती है.

कोरोना वैक्सीन की तैयारियों को लेकर गुरुवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता, मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का और स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव नितिन मदन कुलकर्णी के साथ समीक्षा बैठक की. उन्होंने टीकाकरण और कोल्ड चेन मैनेजमेंट से जुड़ी तैयारियों की जानकारी ली. साथ ही आदेश दिया कि संबंधित विभागों और निजी स्वास्थ्य संस्थाओं के बीच तालमेल की कोई कमी ना हो और सारी व्यवस्थाओं का जायजा लेकर उन्हें दुरुस्त किया जाए.

सरकार फ्री लगाएगी कोरोना वैक्सीन

जानकारी के मुताबिक, कोरोना वैक्सीनेशन में लोगों को किसी तरह का कोई खर्च नहीं देना होगा. सरकारी खर्च पर पहले चरण में लोगों को वैक्सीन दी जाएगी. आगे भी नि:शुल्क ही टीकाकरण अभियान चलाए जाने की संभावना है. स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव डॉ. नितिन मदन कुलकर्णी ने सीएम को बताया कि कि शुक्रवार को राज्य के सभी जिलों में टीकाकरण की रिहर्सल होगी. कोरोना टीकाकरण और कोल्ड चेन मैनेजमेंट को लेकर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में राज्यस्तरीय संचालन समिति और जिलों में उपायुक्त की अध्यक्षता में जिलास्तरीय संचालन समिति बनी है.
वैक्सीन सबसे पहले कोरोना वॉरियर्स को

झारखंड सरकार कोरोना वैक्सीन सबसे पहले कोरोना वॉरियर्स को लगाएगी. इनमें डॉक्टर्स, नर्स, स्वास्थ्यकर्मी, आंगनबाड़ी सेविकाएं, पुलिस जवान, सशस्त्र बल, होमगार्ड, जेल कर्मचारी, आपदा प्रबंधन समन्वयक, नागरिक सुरक्षा संगठन, नगरपालिका कर्मी और राजस्व अधिकारी शामिल हैं. सरकार ने इसकी तैयारियां करीब-करीब पूरी कर ली हैं. समीक्षा बैठक में अगर कुछ कमियों पर बात हुई होगी तो उन्हें पूरा कर लिया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज