कीर्ति आजाद: क्रिकेट से लेकर बीजेपी के पिच पर रहे फिट, अब कांग्रेस के साथ पारी
Ranchi News in Hindi

कीर्ति आजाद: क्रिकेट से लेकर बीजेपी के पिच पर रहे फिट, अब कांग्रेस के साथ पारी
कीर्ति आजाद

कीर्ति आजाद ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत 1993 में बीजेपी से की. वह दिल्ली की गोल मार्केट विधानसभा सीट से चुनाव जीतकर विधायक बने. 1993 से 1998 तक कीर्ति आजाद दिल्‍ली विधानसभा के सदस्‍य रहे.

  • Share this:
दरभंगा छोड़ धनबाद से लोकसभा चुनाव लड़ने पहुंचे पूर्व क्रिकेटर व कांग्रेस नेता कीर्ति झा आजाद को जीत मिलेगी या हार, यह 23 मई को पता चल जाएगा. धनबाद सीट पर उनका मुकाबला बीजेपी के प्रत्याशी पीएन सिंह से रहा. पीएन सिंह 2009 और 2014 में यहां से जीत दर्ज करा चुके हैं. तीसरी बार बीजेपी के टिकट पर मैदान में हैं.

1993 में राजनीति में आए

विश्व कप विजेता क्रिकेट टीम का हिस्सा रहे कीर्तिवर्धन भागवत झा आजाद को लोग कीर्ति आजाद के नाम से जानते हैं. कीर्ति आजाद ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत 1993 में बीजेपी से की. वह दिल्ली की गोल मार्केट विधानसभा सीट से चुनाव  जीतकर विधायक बने. 1993 से 1998 तक कीर्ति आजाद दिल्‍ली विधानसभा के सदस्‍य रहे. 1999 में वह लोकसभा के लिए निर्वाचित हुए. 2009 में कीर्ति आजाद दरभंगा से लोकसभा चुनाव जीतकर संसद पहुंचे. 2014 में उन्होंने फिर अली अशरफ फातमी को दरभंगा सीट पर हराया.



कांग्रेस का हाथ थामते कीर्ति आजाद

बिहार के सीएम रहे थे पिता 

कीर्ति आजाद का जन्‍म 2 जनवरी 1959 को बिहार के पूर्णिया में हुआ. आजाद ने दिल्‍ली यूनिवर्सिटी से इतिहास में स्‍नातक की डिग्री हासिल की. उनके पिता भागवत झा आजाद बिहार के मुख्‍यमंत्री रहे थे. वह कांग्रेस के कद्दावर नेता थे. कीर्ति आजाद के परिवार में पत्‍नी पूनम और दो बच्‍चे पुत्र सूर्या और पुत्री सौम्‍या हैं.

1983 क्रिकेट वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा 

1976 में कीर्ति आजाद ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट से अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत की. वह दिल्ली टीम में ऑलराउंडर थे. 1980 में उन्होंने मेलबर्न में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे डेब्यू किया. उसी साल पाकिस्तान के खिलाफ शारजाह में अपना आखिरी वनडे मैच खेला. 1981 में उन्होंने वेलिंगटन में न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट डेब्यू किया. 1983 में अहमदाबाद में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपना अंतिम टेस्ट मैच खेला. कीर्ति आजाद को इंग्लैंड और पाकिस्तान के खिलाफ उल्लेखनीय पारियां खेलने के लिए याद किये जाते हैं. वह प्रसिद्ध क्रिकेट कमेंटेटर भी हैं.

धनबाद में राहुल गांधी के साथ रोड शो करते कीर्ति आजाद


लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस में हुए शामिल

कीर्ति आजाद को 2015 में केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली पर आरोप गढ़ने की सजा मिली. बीजेपी से उन्हें निलंबित कर दिया गया. कीर्ति आजाद ने डेल्ही क्रिकेट एसोसिएशन में कथित अनियमितताओं के सिलसिले में अरुण जेटली पर आरोप लगाया था. इसके बाद वह बीजेपी से दूरी बनाने लगे. लोकसभा चुनाव से ठीक पहले 18 फरवरी 2019 को कीर्ति आजाद ने बीजेपी का साथ छोड़कर कांग्रेस का दामन थाम लिया. कांग्रेस ने उन्हें दरभंगा की बजाय धनबाद से लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए मैदान में उतारा.

ये भी पढ़ें- बाबूलाल मरांडी: RSS में शामिल होने के लिए छोड़ दी शिक्षक की नौकरी

 अर्जुन मुंडा: जेएमएम से बीजेपी में आए और 35 साल की उम्र में बन गये सीएम

लक्ष्मण गिलुवा: 25 साल के संघर्ष में जिला परिषद सदस्य से बने प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष

केन्द्रीय मंत्री जयंत सिन्हा: फंड मैनेजर से सियासी सिकंदर, ऐसा रहा है सफर

निशिकांत दुबे: कॉरपोरेट जगत से सियासत में आए और पहले चुनाव में ही पहुंचे संसद

केन्द्रीय मंत्री सुदर्शन भगत: पांचजन्य पत्रिका बांटते- बांटते किया सियासत का रूख

कांटा इंचार्ज से मंत्री, ऐसा रहा है आजसू उम्मीदवार चंद्रप्रकाश चौधरी का सियासी सफर

विद्युतवरण महतो: झारखंड आंदोलन के लिए छोड़ दी पढ़ाई, 10 साल संघर्ष के बाद मिली पहली चुनावी जीत

संतालियों के लिए संघर्ष से सीएम बनने तक, शिबू सोरेन ऐसे कहलाए दिशोम गुरु

 

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading