• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • झारखंड कांग्रेस का 'किंग' कौन? प्रदेश अध्यक्ष की दौड़ में शामिल हैं ये चेहरे

झारखंड कांग्रेस का 'किंग' कौन? प्रदेश अध्यक्ष की दौड़ में शामिल हैं ये चेहरे

फिलहाल रामेश्वर उरांव झारखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष की भूमिका निभा रहे हैं.

फिलहाल रामेश्वर उरांव झारखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष की भूमिका निभा रहे हैं.

Jharkhand congress chief Race: झारखंड कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष के लिए नए चेहरे की तलाश तेजी से जारी है. फिलहाल रामेश्वर उरांव झारखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष की भूमिका निभा रहे हैं. उरांव हेमंत सोरेन सरकार में वित्त मंत्री के साथ-साथ खाध आपूर्ति मंत्री भी हैं. दोहरी भूमिका से निजात दिलाने के लिए पार्टी नए चेहरे को खोज रही है.

  • Share this:

रांची. झारखंड कांग्रेस का किंग कौन? इस सवाल का जवाब ढूंढने की कोशिश संगठन के अंदर खाने जोर-शोर से चल रही है. हमेशा की तरह ही इस बार भी कांग्रेस के अंदर खुद की दावेदारी से राजनीतिक मैदान मारने की तैयारी चल रही है. संगठन के अंदर राजनीति के इस शह-मात के खेल में किसकी होगी जीत और कौन अपनों से खाएगा मात, ये देखना दिलचस्प होगा. फिलहाल कांग्रेस संगठन में बदलाव की जो धुंधली सी तस्वीर बन रही है, उनमें कई चेहरे झलक रहे हैं. थोड़ी देर के लिए अगर इस बात को मान लें कि कांग्रेस का ‘दिल्ली दरबार’ झारखंड में दोहरी भूमिका से निजात चाहता है, तब क्या कुछ विकल्प हो सकते हैं. फिलहाल झारखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष की भूमिका रामेश्वर उरांव निभा रहे हैं.

रामेश्वर उरांव इस वक्त राज्य की हेमंत सोरेन सरकार में वित्त मंत्री के साथ-साथ खाध आपूर्ति मंत्री भी हैं. यानी दोहरी भूमिका का मुद्दा गरमाया तो संभवतः वो प्रदेश अध्यक्ष का पद छोड़कर मंत्री बने रहना ज्यादा मुनासिब समझेंगे. ऐसे में प्रदेश अध्यक्ष की दौड़ में शामिल कांग्रेसी चेहरों को जान लेना जरूरी हैं.

सबसे पहले आदिवासी चेहरों की बात करें तो सांसद गीता कोड़ा का नाम दिखता है. दूसरी महिला दावेदार पर नजर दौड़ाए तो दीपिका पांडेय सिंह का नाम शामिल है. प्रदेश में जब कभी भी प्रदेश अध्यक्ष के नाम की चर्चा होती है, तब पूर्व सांसद और पार्टी के कद्दावर नेता सुबोध कांत सहाय का नाम खुद-ब-खुद सामने चला आता है. पिछले कुछ दिनों से राज्य के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख का नाम भी चर्चा में है. चर्चा की वजह पर भी गौर फरमाने की जरूरत है. उनका नाम वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव ने दिल्ली में हाईकमान में लिया है.

इसके अलावा, कांग्रेस के 5 कार्यकारी अध्यक्ष में से दो नाम पूर्व मंत्री केशव महतो कमलेश और राजेश ठाकुर के हैं. दो नाम ऐसे हैं जिनकी अभी घर वापसी होनी बाकी है. पूर्व प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप बालमुचू और सुखदेव भगत भी छुपे रुस्तम साबित हो सकते हैं. कुछ एक नाम अभी और भी हैं. वैसे भी राजनीति में जो दिखता है वो होता नहीं है और जो होता है वो दिखता नहीं है. इसलिये थोड़ा इंतजार और इस इंतजार के बाद झारखंड कांग्रेस का किंग कौन? आप खुद जान जाएंगे.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज