व्हाट्सएप पर 'जय श्री राम' लिखने वाले झारखंड NSUI के कार्यकर्ता संगठन से बाहर, गर्माई सियासत

निष्कासन के खिलाफ एनएसयूआई कार्यकर्ता विरोध कर रहे हैं. (प्रतीकात्मक ​तस्वीर)

छात्र संगठन की ज़िला अध्यक्ष ने सात कार्यकर्ताओं को संगठन से बाहर का रास्ता दिखाया, तो आरोप और प्रत्यारोप की राजनीति शुरू हो गई. अब निकाले गए कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे हैं, तो भाजपा इस विवाद में कांग्रेस को आड़े हाथों ले रही है.

  • Share this:
    रांची. कांग्रेस की स्टूडेंट विंग एनएसयूआई की झारखंड इकाई में 'सांप्रदायिकता' के मुद्दे पर घमासान मच गया, जब विंग के आधिकारिक व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ कार्यकर्ताओं ने शुभकामनाओं के लिए 'जय श्री राम' लिख दिया. ये सभी एनएसयूआई कार्यकर्ता पूर्व सिंहभूम ज़िले की ज़िला कमेटी के बताए गए हैं. इस बर्ताव को गंभीरता से लेते कमेटी अध्यक्ष रोज़ तिर्की ने इन 7 कार्यकताओं को पार्टी से अगले तीन सालों के लिए बाहर का रास्ता दिखा दिया. अब निकाले गए कार्यकर्ता सवाल कर रहे हैं कि क्या उनका अपने देवता का नाम लिखना 'अभद्र व्यवहार' की श्रेणी में माना जाएगा?

    'कमेटी प्रेसिडेंट रोज़ तिर्की मानती हैं, अगर हम व्हाट्सएप ग्रुप का हिस्सा बनना चाहते हैं तो हम 'जय श्री राम' नहीं लिख सकते. क्या अपने देवता का नाम लिखना गलत है,' निष्कासित किए गए कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन करते हुए साफ तौर पर इस कार्रवाई पर सवाल उठाया. अब इस पूरे मामले पर एक तरफ, कांग्रेस के भीतर ही घमासान छिड़ गया है, तो दूसरी तरफ, भारतीय जनता पार्टी ने भी इस मौके का फायदा उठाने की कोशिश की है. जानिए क्या है पूरी सियासत.

    ये भी पढ़ें : जून में झारखंड तरबतर, आधे महीने में 93 फीसदी ज़्यादा बारिश से क्या है नफा-नुकसान?

    jharkhand congress, jharkhand bjp, jharkhand news, jharkhand nsui, झारखंड कांग्रेस, झारखंड भाजपा, झारखंड न्यूज़, झारखंड समाचार
    एनएसयूआई में हुए विवाद पर भाजपा ने कांग्रेस पर हमला बोला.

    किस आधार पर किया गया निष्कासन?

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.