होम /न्यूज /झारखंड /रांची: कोलकाता से चल रहे शराब कनेक्शन का भंडाफोड़, चार शराब माफिया गिरफ्तार

रांची: कोलकाता से चल रहे शराब कनेक्शन का भंडाफोड़, चार शराब माफिया गिरफ्तार

राजधानी रांची में कोलकाता से चल रहे शराब सिंडिकेट का भंडाफोड़ (News18Hindi)

राजधानी रांची में कोलकाता से चल रहे शराब सिंडिकेट का भंडाफोड़ (News18Hindi)

Jharhand Crime: रांची में कोलकाता से चल रहे शराब सिंडीकेट का भंडाफोड़ हुआ है. आरोपियों के पास से महंगे ब्रांड के शराब ब ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

राजधानी रांची में कोलकाता से चल रहे शराब सिंडिकेट का भंडाफोड़ हुआ है.
कोलकाता से महंगे शराब को रांची भेजने की जिम्मेवारी रणदीप बॉस नामक शख्स की थी
रांची में अनीत सिंह नामक शख्स अपने हैंडलरों के माध्यम से शराब ग्राहक तक पहुंचाता था.

रांची: रांची में कोलकाता से चल रहे शराब सिंडीकेट का भंडाफोड़ हुआ है. मामले में उत्पाद विभाग ने कार्रवाई करते हुए 4 शराब माफियाओं को धर दबोचा है. आरोपियों के पास से महंगे ब्रांड के शराब बरामद हुए है. जानकारी के मुताबिक, पिछले 2 वर्षों से सिंडीकेट रांची में काम कर रहा था.

रांची में भी बिहार के तर्ज पर डोर टू डोर शराब सप्लाई के चेन को डिकोड किया गया है. 4 शराब तस्करों की गिरफ्तारी से ये पूरा मामला उजागर हुआ है. बताया जा रहा है कि कोलकाता से शराब लायी जाती थी जिसे रांची के होटलों और बार के कस्टमर को दी जाती थी. कोलकाता से महंगे शराब को रांची भेजने की जिम्मेवारी रणदीप बॉस नामक शख्स की थी जो शराब रांची के अनीत सिंह को थड़पाकना में भेजता था.

Jharkhand: रांची के होटल में महिलाकर्मी ने की खुदकुशी, पंखे से लटकता मिला शव

जिसके बाद, अनीत सिंह अपने हैंडलरों के माध्यम से शराब ग्राहक तक पहुंचाता था. शराब बेचने को लेकर अनीत बार के सुपरवाइजर और वेटर को अपना मोहरा बनाता था, जिनके जरिए वो महंगे शराब के शौकीनों तक पहुंचाता था. वहीं, रांची के कुछ बार और होटल के साथ-साथ कई ग्राहकों को भी ये शराब मुहैया कराते थे. मामले को लेकर उत्पाद विभाग के सब इंस्पेक्टर पंकज कुमार ने बताया की शराब को रांची में खपाने का दारोमदार अनीत सिंह पर ही था. वहीं, शराब स्प्लायर को मुनाफा भेजा जाता था.

रणदीप बोस नामक  शख्स कोलकाता से महंगे शराब को खरीदकर अनीत को रांची भेजा करता था. मामले को लेकर रणदीप ने न्यूज 18 के कैमरे पर ये राज भी खोला और कहा की उसके बाद अनीत इसे खपाने का काम किया करता था. वहीं, अनीत ने भी हमारे कैमरे पर अपना गुनाह कुबूल किया और कहा की पिछले दो वर्षो से ये काम कर रहा था.

वहीं, मामले में पकड़ा गया तीसरा आरोपी बार में सुपरवाइजर काम करता था, जो ग्राहक मुहैया कराना एक काम करता था सुपरवाइजर धनबाद का रहनेवाला है. बहरहाल महंगे शराब के सिंडीकेट को डिकोड किया तो गया है लेकिन इस सिंडीकेट की पैठ पूरे रांची में फैली हुई है और उम्मीद है की जल्द ही इस पूरे मामले में और गिरफ्तारियां होंगी.

Tags: Jharkhand news, Ranchi news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें