लड़खड़ाते कदमों से CT स्कैन कराने गया मजबूर मरीज, सामने बैठ गप्पे हांकता रहा ट्रालीमैन
Ranchi News in Hindi

लड़खड़ाते कदमों से CT स्कैन कराने गया मजबूर मरीज, सामने बैठ गप्पे हांकता रहा ट्रालीमैन
रांची स्थित राज्य के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स में चौबीस घंटे के अंदर दो मरीजों के इलाज में गंभीर लापरवाही का मामला सामने आया है

मरीज के साथ आए परिजनों ने बताया कि अस्पताल का स्टाफ स्ट्रेचर के लिए उन्हें घंटों इधर से उधर घुमाते रहे. उन लोगों ने हर किसी से हाथ जोड़कर एक स्ट्रेचर या व्हील चेयर की गुहार लगाई पर किसी का दिल नहीं पसीजा

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 13, 2020, 12:26 AM IST
  • Share this:
रांची. झारखंड (Jharkhand) के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स (RIMS) में मरीजों के साथ कैसा अमानवीय बर्ताव होता है इसकी बानगी एक बार फिर से देखने को मिली है. यहां भर्ती सिर में गंभीर चोट के एक मरीज को डॉक्टर ने सिर का सीटी स्कैन (CT Scan) कराने की सलाह दी. लेकिन अस्पताल की पुरानी बिल्डिंग से सीटी स्कैन भवन तक के लिए उसे न तो स्ट्रेचर या व्हील चेयर मुहैया कराया गया. इधर उधर प्रयास कर थक-हार कर मरीज के परिजन उसको पैदल ही सीटी स्कैन कराने ले गए. इस दौरान मरीज को काफी तकलीफ सहनी पड़ी.

इस बीच अचानक बारिश होने लगी तो मरीज के परिजन मेडिकल पर्ची से उसका सिर छिपाने लगे ताकि सिर के घाव पर बारिश का पानी न पड़े. मूल रूप से बिहार के गया जिले के रहने वाले प्रदीप को सिर में गंभीर चोट के बाद रिम्स में भर्ती कराया गया था. यहां डॉक्टरों ने उसे अटेंड करते हुए उसे अपने सिर का सीटी स्कैन कराने को कहा. हेल्थ मैप में स्कैन कराने के लिए गंभीर रूप से बीमार प्रदीप को व्हील चेयर तक नहीं मिला. प्रदीप के साथ आए उसके परिजनों ने बताया कि अस्पताल का स्टाफ स्ट्रेचर के लिए उन्हें घंटों इधर से उधर घुमाते रहे. उन लोगों ने हर किसी से हाथ जोड़कर एक स्ट्रेचर या व्हील चेयर की गुहार लगाई पर किसी का दिल नहीं पसीजा.

गंभीर मरीज को स्ट्रेचर नहीं मिलना शर्मनाक
मामला सामने आने पर रिम्स कोविड टास्क फोर्स के संयोजक और रिम्स चिकित्सक शिक्षक संघ के अध्यक्ष डॉक्टर प्रभात कुमार ने कहा कि किसी भी रोगी के साथ ऐसा नहीं होना चाहिए. उन्होंने कहा कि इसको लेकर वो अधीक्षक और निदेशक से बात करेंगे.
वजह जो हो लेकिन रिम्स की सच्चाई यही बताती है कि पहले अस्पताल के कोविड सेंटर में बेड से गिरे मरीज के इलाज को लेकर लापरवाही सामने आई थी, और अब सिर में गंभीर चोट से जूझ रहे मरीज को सीटी स्कैन के लिए एक अदद स्ट्रेचर या व्हील चेयर उपलब्ध नहीं कराना खस्ताहाल स्वास्थ्य सेवाओं को दर्शाता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज