CAA के खिलाफ रांची के सड़कों पर RJD नेताओं का आक्रोश मार्च, की ये मांग

सत्यानंद भोक्ता ने कहा कि भारत सरकार विकास और रोजगार की जगह पाकिस्तान, मुसलमान और उग्रवाद की बात कर रही है.

जयप्रकाश नारायण यादव ने कहा कि सीएए, एनआरसी और एनपीआर बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर के सिद्धांतों पर हमला है.

  • Share this:
रांची. सीएए (CAA), एनआरसी (NRC) और एनपीआर (NPR) के विरोध में मंगलवार को आरजेडी (RJD) के नेता-कार्यकर्ता सड़क पर उतरे. पार्टी के प्रदेश प्रभारी, प्रदेश अध्यक्ष सहित सभी बड़े नेताओं ने मोरहाबादी में बापू प्रतिमा के चरणों में पुष्पांजलि कर संविधान बचाने के शपथ के साथ राजभवन मार्च किया और धरना देकर सीएए को वापस लेने की मांग की.

संविधान की मूल आत्मा के साथ खिलवाड़ 

इस मौके पर आरजेडी नेताओं ने कहा कि केंद्र की नरेंद्र मोदी की सरकार संविधान की मूल आत्मा के साथ खिलवाड़ कर रही है. आरजेडी के प्रदेश प्रभारी जयप्रकाश नारायण यादव के नेतृत्व में निकले आक्रोश मार्च में शामिल आरजेडी के सभी प्रकोष्ठों के नेताओं के साथ साथ पूर्व मंत्री और वर्तमान मंत्री शामिल हुए.

देश को बांटने की साजिश

जयप्रकाश नारायण यादव ने कहा कि सीएए, एनआरसी और एनपीआर बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर के सिद्धांतों पर हमला है और समाज में नफरत फैलाई जा रही है. उन्होंने कहा कि देश को बांटने की साजिश की जा रही है और आरजेडी के नेता उन मंसूबे को पूरा नहीं होने देंगे.

बीजेपी पर निशाना

आरजेडी नेता और हेमंत सरकार में मंत्री सत्यानंद भोक्ता ने कहा कि भारत सरकार विकास और रोजगार की जगह पाकिस्तान, मुसलमान और उग्रवाद की बात कर रही है. आरजेडी राज्य में सीएए को लागू नहीं होने देगी.

झारखंड में सीएए लागू नहीं होने देंगे

पूर्व मंत्री सुरेश पासवान ने कहा कि गरीब-बेरोजगारों के लिए कानून बनाने की जगह बांटने का कानून बनाने में लगी है. वहीं, आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष अभय कुमार सिंह ने कहा कि उनके नेता लालू प्रसाद के आदेश पर आरजेडी इस कानून का विरोध करता है क्योंकि हम जहां पैदा लिए वहां के लोग हमसे सर्टिफिकेट मांगें, इसे हम स्वीकार नहीं करेंगे. आरजेडी नेता और चतरा से प्रत्याशी रहे सुभाष यादव ने कहा कि झारखंड में सीएए लागू नहीं होने देंगे क्योंकि आज भीमराव अंबेडकर के समतामूलक समाज पर बीजेपी हमला कर रही है.

मोरहाबादी मैदान से मार्च के रुप में निकला आरजेडी का मार्च राजभवन के समक्ष महाधरना में तब्दील हो गया. राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू के रांची में नहीं रहने के चलते पार्टी प्रभारी ने कोतवाली डीएसपी के माध्यम से ज्ञापन राजभवन को भेजकर सीएए पर जनभावना को केंद्र सरकार को अवगत कराने का आग्रह किया.

ये भी पढ़ें-

अब प्रदीप यादव की बारी? बंधु बोले- बीजेपी नहीं जा सकता, इसलिए हुई कार्रवाई

कांग्रेस में जा सकते हैं बंधु, BJP बोली- रणनीति के तहत JVM ने निकाला

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.