मानव तस्करी की शिकार झारखंड की बच्ची दिल्ली में हुई आजाद, CM हेमंत ने दिये खास निर्देश

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के निर्देश पर झारखंड पुलिस बच्ची को लाने की तैयारी में जुट गई है.

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के निर्देश पर झारखंड पुलिस बच्ची को लाने की तैयारी में जुट गई है.

दिल्ली महिला आयोग की टीम ने दिल्ली के करोलबाग इलाके से झारखंड की नाबालिग बच्ची का रेस्क्यू करवाया. बच्ची को फर्जी आधार कार्ड पर दिल्ली काम करने के लिए भेजा गया था.

  • Share this:
रांची. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) ने झारखंड पुलिस को दिल्ली महिला आयोग से संपर्क कर दिल्ली के करोलबाग से रेस्क्यू कराई गई झारखंड की नाबालिक बच्ची को सकुशल वापस लाने का निर्देश दिया. सीएम ने बच्ची की रेस्क्यू में मदद के लिए दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल के प्रति आभार व्यक्त किया.

मुख्यमंत्री को बताया गया कि दिल्ली महिला आयोग की टीम द्वारा झारखंड की नाबालिग बच्ची का रेस्क्यू करवाया गया है. बच्ची को फर्जी आधार कार्ड पर दिल्ली काम करने के लिए भेजा गया था. दिल्ली महिला आयोग अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा कि सीएम ने पहले भी ऐसी लड़कियों का पुनर्वास करवाया है. उनसे आग्रह है कि वो इसका भी पुनर्वास कराएं.

दिल्ली महिला आयोग ने अब तक ऐसी सैकड़ों लड़कियों को रेस्क्यू करवाया है. पिछले वर्ष भी झारखंड की कई लड़कियों को वापस उनके गृह राज्य पहुंचाने में झारखंड सरकार की सहायता की थी. आयोग ने ट्वीट का संज्ञान लेते हुए त्वरित कार्रवाई की और आयोग उस बच्ची को बचाने में सक्षम रहा.

इसके बाद सीएम ने स्‍वाति मालिवाल के ट्वीट का संज्ञान लेते हुए स्‍वाति मालिवाल को धन्‍यवाद कहा. और झारखंड पुलिस को नाबालिग लड़की को सकुशल झारखंड लाने का आदेश दिया.
सीएम हेमंत ने ट्विटर पर लिखा- झारखण्ड की बेटी को रेस्क्यू कराने के लिए धन्यवाद. झारखंड पुलिस, कृपया दिल्ली महिला आयोग से संपर्क कर बिटिया की सकुशल राज्य वापसी और पुनर्वास हेतु विभाग के साथ उचित कार्रवाई करते हुए सूचित करें. सीएम ने झारखंड के मंत्री जोबा मांझी को भी इस ट्वीट में टैग किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज