झारखंड : यौन शोषण के लिए कुख्यात शेल्टर होम से शिफ्टिंग पर दो लड़कियां गायब!

प्रतीकात्मक तस्वीर

यौन उत्पीड़न के आरोपों में घिरकर बदनाम हो चुके शेल्टर होम के संचालकों को पुलिस तलाश कर ही रही है, वहीं चौंकाने वाला खुलासा यह हुआ कि इस मामले की मूल शिकायत करने वाली दो लड़कियां ही गायब हो गई हैं.

  • Share this:
    रांची. नाबालिगों के शेल्टर होम में यौन शोषण के आरोपों के गूंजने के बाद झारखंड के पूर्वी सिंहभूम ज़िले में जब शुक्रवार शाम को बच्चों को शेल्टर होम से दूसरी जगह शिफ्ट किया गया, तो पाया गया कि दो नाबालिग लड़कियां गायब थीं. इस मामले में रविवार को एक आला अफसर ने कहा कि इन लड़कियों की तलाश की जा रही थी. खबरों के मुताबिक ये वही दो आदिवासी लड़कियां हैं, जिन्होंने सबसे पहले शेल्टर होम में यौन शोषण होने के बारे में शिकायत दर्ज करवाई थी. इनकी शिकायत के बाद ही यह शेल्टर होम बदनाम हो गया था और अब पुलिस इन दोनों की तलाश कर रही है.

    मदर टेरेसा वेलफेयर ट्रस्ट नाम के शेल्टर होम की दो आदिवासी लड़कियों ने शिकायत दर्ज करवाई थी कि पिछले चार साल से यौन शोषण किया जा रहा था. इसके बाद प्रशासन ने इस शेल्टर होम के बच्चों को जमशेदपुर के गोबरघौसी स्थित बाल कल्याण आश्रम में शिफ्ट करने का फैसला किया था. पीटीआई की खबर की मानें तो पूर्व सिंहभूम के एसएसपी डॉ. एम तमिल वनन ने कहा 'बाल कल्याण समिति ने नये शेल्टर होम में 38 बच्चों का शिफ्ट होना पाया. 17 साल की उम्र की दो लड़कियां गायब मिलीं, जिन्हें तलाशा जा रहा है.'

    ये भी पढ़ें: गुमला में अचानक आई बासा नदी में बाढ़, घंटों तक बीच नदी में फंसे तीन युवक

    jharkhand news, jharkhand samachar, sexual assault case, sexual harassment case, झारखंड न्यूज़, झारखंड समाचार, यौन उत्पीड़न केस, यौन शोषण केस
    इस मामले के प्रमुख नामजद आरोपी फरार हैं, जिन्हें पुलिस तलाश रही है.


    लड़कियां गायब, आरोपी फरार, तलाश जारी
    बताया गया है कि मदर टेरेसा ट्रस्ट एक स्थानीय एनजीओ चलाता है, जिसका मदर टेरेसा द्वारा स्थापित संस्था सिस्टर्स चैरिटी से कोई लेना देना नहीं है. ज़िला समाज कल्याण अधिकारी सत्या ठाकुर के हवाले से रिपोर्ट में कहा गया कि इस ट्रस्ट के शेल्टर होम में 40 बच्चों के रजिस्टर होने का रिकॉर्ड है, जिनमें 24 लड़कियां शामिल हैं. इधर, एसएसपी ने कहा कि इस ट्रस्ट के डायरेक्टर हरपाल सिंह थापर, उसकी पत्नी पुष्पा रानी तिर्की, वॉर्डन गीता सिंह, उसके बेटे आदित्य सिंह और एक अन्य व्यक्ति की धरपकड़ की कोशिश की जा रही है, जिनके नाम एफआईआर में दर्ज हैं.

    गौरतलब है कि मदर टेरेसा वेलफेयर ट्रस्ट पिछले 10 सालों से खरंगाझार इलाके में चलाया जा रहा था, जो अब यौन शोषण के आरोपों में घिर चुका है. इसी तरह का एक केस बिहार के मुजफ्फरपुर ज़िले के शेल्टर होम का सुर्खियों में रहा था, जिसके मामले में पिछले साल दिल्ली की एक अदालत ने मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर समेत 19 लोगों को दोषी करार दिया था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.