Lockdown 4.0: सोरेन सरकार ने जारी की गाइडलाइंस, आज से झारखंड में मिलेगी ये छूट

झारखंड राज्यसभा चुनाव के नतीजे. (File Photo)
झारखंड राज्यसभा चुनाव के नतीजे. (File Photo)

सोमवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अधिकारियों के साथ बैठक कर राज्य में औद्योगिक गतिविधि बढ़ाने के लिए लॉकडाउन में शर्तों के साथ छूट देने का निर्णय लिया.

  • Share this:
रांची. देश भर में कोविड-19 (Covid-19) के मद्देनजर जारी लॉकडाउन को 31 मई तक बढ़ा दिया है. देश में लागू लॉकडाउन 4.0 (Lockdown 4.0) का चौथा चरण शुरू हुआ है, जिसमें केंद्र सरकार ने कई छूट देने का ऐलान करने के साथ जोन तय करने की जिम्‍मेदारी राज्‍यों को सौंप दी है. लॉकडाउन 4.0 में केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों को ज्यादा अधिकार दिए हैं. इस कड़ी में सोमवार को झारखंड सरकार ने लॉकडाउन 4.0 के दौरान कई छूट देने का ऐलान किया.

सोमवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अधिकारियों के साथ बैठक कर राज्य में औद्योगिक गतिविधि बढ़ाने के लिए लॉकडाउन में शर्तों के साथ छूट देने का निर्णय लिया. देर शाम मुख्य सचिव सुखदेव सिंह द्वारा जारी पत्र में औद्योगिक गतिविधि बढ़ाने के लिए कई प्रतिष्ठान को खोलने की अनुमति दी गई. कंटेनमेंट जोन के बाहर इंडस्ट्रीयल एरिया में औद्योगिक गतिविधियों की छूट दी गई है. इसके साथ ही निर्माण कार्य, गोदाम, हार्डवेयर, निर्माण कार्य से जुड़े दुकान, किताब दुकान, स्टेशनरी दुकान और टेलीकॉम कंपनियों से जुड़े रिटेल आउटलेट खुले सकेंगे.

मोबाइल, घड़ी, इलेक्ट्रॉनिक जैसे टीवी और आईटी से संबंधित सर्विस सेंटर खुले रहेंगे. इसमें कंप्यूटर और इलेक्ट्रॉनिक कंज्यूमर से जुड़े प्रोडक्ट जैसे फ्रिज, एसी, कूलर आदि शामिल हैं. ये सभी दुकानें पूरे राज्य के ऐसे इलाके में खुलेंगी जो नगर निगम क्षेत्र से बाहर होंगी.



इसके अलावा निजी कार्यालय और शराब की दुकानें भी खुलेंगी. ई-कॉमर्स कंपनियों को गैर जरूरी और जरूरी सामानों की डिलिवरी करने की इजाजत होगी. राज्य के अंदर और राज्य के बाहर जाने के लिए भाड़े पर गाड़ी ली जा सकती है. इसके अलावा पहले दी गयी सारी रियायतें वैसी ही रहेंगी. इन सारी प्रतिष्ठानों में सुबह सात बजे से शाम सात बजे तक भारत सरकार के गाइडलाइंस के अनुरूप खुलेंगी और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाएगा.

ये भी पढ़ें- पश्चिम सिंहभूम में कोरोना ने दी दस्तक, झारखंड में संक्रमितों की संख्या 226 हुई

औरैया हादसे के मृतकों का हुआ अंतिम संस्कार, पर अंतिम दर्शन से वंचित रहे परिजन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज