Home /News /jharkhand /

jharkhand vidhansabha me ab mla cm se nhi puch sakenge sawal prashnkal tradition ended bruk

झारखंड विधानसभा में अब विधायक मुख्यमंत्री से नहीं पूछ सकेंगे सवाल, प्रश्नकाल किया गया समाप्त

Jharkhand News: झारखंड विधानसभा में अब मुख्यमंत्री प्रश्नकाल परंपरा को समाप्त कर दिया गया है.

Jharkhand News: झारखंड विधानसभा में अब मुख्यमंत्री प्रश्नकाल परंपरा को समाप्त कर दिया गया है.

Jharkhand Assembly News: झारखंड विधानसभा ने गुरुवार को मुख्यमंत्री प्रश्नकाल रखने की प्रथा को खत्म करने का फैसला किया. झारखंड विधानसभा में गुरुवार को नियम समिति की रिपोर्ट ध्वनिमत से पारित हुई. विधायक दीपक बिरुआ ने समिति की रिपोर्ट को सभा पटल पर रखा.

अधिक पढ़ें ...

रांची. झारखंड विधानसभा ने गुरुवार को मुख्यमंत्री प्रश्नकाल रखने की प्रथा को खत्म करने का फैसला किया. झारखंड विधानसभा में गुरुवार को नियम समिति की रिपोर्ट ध्वनिमत से पारित हुई. विधायक दीपक बिरुआ ने समिति की रिपोर्ट को सभा पटल पर रखा. झारखंड विधानसभा की कार्यसंचालन नियमावली से धारा 52 को समाप्त करने की अनुशंसा की गई थी. धारा 52 में मुख्यमंत्री प्रश्नकाल का प्रावधान था. इस रिपोर्ट के पारित होने के बाद अब झारखंड विधानसभा में मुख्यमंत्री प्रश्नकाल नहीं होगा. इसके अलावा नियमावली में शून्यकाल की संख्या 15 से बढ़ाकर 25 करने का प्रावधान किया गया है.

शून्य काल के तहत 50 शब्दों में विधायकों को अपने क्षेत्र या राज्य की समस्या पर सूचना देने का अधिकार है. एक अन्य बदलाव की भी अनुशंसा हुई है. पहले प्रश्न के लिए कम-से कम सात और अधिक से अधिक 14 दिनों पूर्व सूचना देना आवश्यक था. अब विधायक 14 दिनों से पहले भी सवाल की सूचना विस सचिवालय को दे सकते हैं.

एक महीने में तैयार हुई थी विधानसभा कार्यसंचालन नियमावली 

बता दें, झारखंड विधानसभा के प्रथम अध्यक्ष इंदर सिंह नामधारी के समय झारखंड विधानसभा कार्यसंचालन नियमावली तैयार हुई थी. उस समय मध्य प्रदेश विधानसभा के प्रधान सचिव डॉ आनंद पयासी का नियमावली बनाने में सहयोग लिया गया था. झारखंड विधानसभा से उदयभान सिंह और मधुकर भारद्वाज ने नियमावली तैयार करने में डॉ पयासी का सहयोग किया था. नियमावली तैयार होने में लगभग एक महीने का समय लगा था जिसमें लोकसभा सहित कई राज्यों की विधानसभा नियमावली का अध्ययन किया गया था.

मध्यप्रदेश विधानसभा से लिया गया था मुख्यमंत्री प्रश्नकाल 

हालांकि इससे पहले कई अच्छी चीजों को समाहित कर झारखंड विधानसभा की नियमावली बनी थी. जिसमें मुख्यमंत्री प्रश्नकाल भी एक था मुख्यमंत्री प्रश्नकाल मध्यप्रदेश विधानसभा से लिया गया है. इसके बाद से लगातार हर सत्र में प्रत्येक सोमवार को दोपहर 12 बजे से साढ़े 12 बजे तक मुख्यमंत्री प्रश्नकाल होता आया है. सिर्फ वर्तमान विधानसभा के कई सत्रों में मुख्यमंत्री प्रश्नकाल नहीं आ सका.

Tags: CM Hemant Soren, Jharkhand Government, Jharkhand News Live

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर