होम /न्यूज /झारखंड /

Jharkhand Weather: बंगाल की खाड़ी में फिर बन रहा लो प्रेशर एरिया, 19 से 21 अगस्त तक होगी भारी बारिश!

Jharkhand Weather: बंगाल की खाड़ी में फिर बन रहा लो प्रेशर एरिया, 19 से 21 अगस्त तक होगी भारी बारिश!

Jharkhand Weather: झारखंड के अलग-अलग इलाकों में 19 से 21 अगस्त तक भारी बारिश का अनुमान है.

Jharkhand Weather: झारखंड के अलग-अलग इलाकों में 19 से 21 अगस्त तक भारी बारिश का अनुमान है.

Jharkhand Weather News: मौसम विभाग के अनुसार 19, 20 और 21 अगस्त को राज्यभर में काफी अच्छी बारिश देखने को मिलेगी. मौसम विभाग के वैज्ञानिक अभिषेक आंनद के अनुसार बंगाल की खाड़ी में फिर निम्न दबाव का लो प्रेशर एरिया बन रहा है.

हाइलाइट्स

मौसम विभाग के अनुसार 19, 20 और 21 अगस्त को राज्यभर में काफी अच्छी बारिश देखने को मिलेगी.
मॉनसून की धीमी गति के कारण किसान परेशान हैं, क्योंकि राज्य में सूखे के हालात पैदा हो रहे हैं.
बंगाल की खाड़ी में फिर निम्न दबाव का लो प्रेशर एरिया बन रहा है, जिसका असर झारखंड में भी देखने को मिलेगा.

रांची. झारखंड में मॉनसून की बेरूखी साफतौर पर देखने को मिल रही है. राज्यभर में मॉनसून की गति एक बार फिर से धीमी हो गई, जिस वजह से आम जनता को चिलचिलाती धूप का सामना करना पढ़ रहा है. वहीं दूसरी तरफ किसानों के चेहरे पर भी मायूसी झलक रही है. हालांकी झारखंड के मौसम को लेकर मौसम विभाग ने ताजा अपडेट जारी किया है. मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार राज्यभर में 18 अगस्त यानि आज से मौसम के मिज़ाज में बदलाव देखने को मिलेगा.

मौसम विभाग के अनुसार गुरुवार के शाम के बाद से मौसम खुशनुमा हो जायेगा. 19, 20 और 21 अगस्त को राज्यभर में काफी अच्छी बारिश देखने को मिलेगी. मौसम विभाग के वैज्ञानिक अभिषेक आंनद के अनुसार बंगाल की खाड़ी में फिर निम्न दबाव का लो प्रेशर एरिया बन रहा है. इसकी वजह से 19, 20 और 21 अगस्त को झारखंड में भारी बारिश हो सकती है.

तापमान में गिरावट के आसार 

उन्होंने बताया कि पिछले दिनों हुए बारिश में राज्य के नॉर्थ ईस्ट इलाकों में बिल्कुल हल्की बारिश दर्ज की गई थी, जिसकी वजह से इन इलाकों के तापमान में खास बदलाव देखने को नहीं मिला है. हालांकि इस बार इन इलाकों में भी भारी बारिश की आशंका जताई जा रही है. मौसम विभाग के अनुसार 18 अगस्त के दोपहर के बाद से राज्य के विभिन्न इलाकों में भारी बारिश की संभावना बनी हुई है. जिसके कारण तापमान में भी गिरावट के पूरे आसार बने हुए हैं.

बारिश से किसानों को मिलेगी राहत

वहीं, मॉनसून की धीमी गति को लेकर लम्बे समय से किसान परेशान थे. क्योंकि राज्य में सूखे के हालात पैदा हो रहे थे. किसानों को अपनी धान की फसलें बर्बाद होने का डर सता रहा था. इस मौसम में होने वाली धान की खेती सबसे ज्यादा मानसूनी बारिश पर निर्भर करती है. अच्छी बारिश नहीं होने से किसानों की समस्या बढ़ रही थी. हालांकि बीते कई दिनों से बारिश के बाद किसानों को राहत मिली है.

Tags: Jharkhand news, Jharkhand weather News, Weather news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर