Home /News /jharkhand /

झारखंड से छिन गयी वर्ल्ड रेस वॉक की मेजबानी, खेल विभाग-निदेशालय की लेट-लतीफी जिम्मेदार?

झारखंड से छिन गयी वर्ल्ड रेस वॉक की मेजबानी, खेल विभाग-निदेशालय की लेट-लतीफी जिम्मेदार?

मार्च 2022 में होने वाले वर्ल्ड रेस वॉक की मेजबानी का ऑफर झारखंड को मिला था लेकिन विभाग द्वारा इस पर लचर रवैया अपनाने से इसकी मेजबानी ले कर वापस ओमान को दे दी गई

मार्च 2022 में होने वाले वर्ल्ड रेस वॉक की मेजबानी का ऑफर झारखंड को मिला था लेकिन विभाग द्वारा इस पर लचर रवैया अपनाने से इसकी मेजबानी ले कर वापस ओमान को दे दी गई

Jharkhand News: झारखंड एथलेटिक्स संघ की ओर से भेजी गयी फाइल महीनों खेल विभाग और निदेशालय का चक्कर काटती रही, और आखिरकार देर होने की वजह से झारखंड से मार्च 2022 में होने वाले वर्ल्ड रेस वॉक की मेजबानी का ऑफर वापस लेकर ओमान को सौंप दी गयी. यह गलती खेल विभाग और निदेशालय की लेट लतीफी का नतीजा बताया जा रहा है

अधिक पढ़ें ...

    (संजय सिन्हा)

    रांची. झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) अक्सर प्रदेश में खेल, और खेल से जुड़े इवेंट्स को बढ़ावा देने की बात करते हैं. लेकिन उनका ही प्रदेश अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक बड़े स्पोर्ट इवेंट की मेजबानी करने से चूक गया. यह गलती खेल विभाग और निदेशालय की लेट लतीफी का नतीजा बताया जा रहा है. मार्च 2022 में होने वाले वर्ल्ड रेस वॉक (World Race Walk) की मेजबानी का ऑफर जब वर्ल्ड एथलेटिक्स संघ की ओर से देश को सौंपी गयी थी तब इसके आयोजन को लेकर प्रस्ताव तैयार करने की जिम्मेदारी झारखंड (Jharkhand) को दी गयी थी. जिसके बाद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाने के मकसद से झारखंड एथलेटिक्स संघ (Jharkhand Athletics Federation) की ओर से एक प्रस्ताव तैयार कर खेल विभाग और खेल निदेशालय को मार्च 2021 में ही भेज दिया गया था.

    इसको लेकर बजट करीब नौ करोड़ रुपये बतायी गयी थी. साथ ही तर्क दिया गया था कि प्रतियोगिता में 85 देशों के शामिल होने और 123 देशों में इसके सीधे प्रसारण से झारखंड की पहचान इंटरनेशनल लेवल  पर बनेगी और दूसरे बड़े आयोजन को लेकर भी रास्ता खुल सकेगा. लेकिन झारखंड एथलेटिक्स संघ की ओर से भेजी गयी फाइल महीनों खेल विभाग और निदेशालय का चक्कर काटती रही, और आखिरकार देर होने की वजह से झारखंड से मेजबानी का ऑफर वापस लेकर ओमान को सौंप दी गयी.

    विभाग की लेट-लतीफी के कारण झारखंड से छिन गई मेजबानी

    झारखंड एथलेटिक्स एसोसिएशन के अध्यक्ष मधुकांत पाठक की मानें तो पूरी चूक खेल विभाग और निदेशालय स्तर पर हुई है. समय पर प्रस्ताव देने के बावजूद अधिकारियों ने दिलचस्पी नहीं दिखायी जिसका नतीजा यह हुआ कि झारखंड के हाथ से मेजबानी छिन गयी. वहीं, राष्ट्रीय वेटरन बैडमिंटन खिलाड़ी रंजीत कुमार जेना इसकी मेजबानी छिन जाने को लेकर बेहद मायूस हैं. उन्होंने बताया कि लंबे समय से उनके जैसे स्पोर्ट्स से जुड़े लोग इसकी तैयारी में जुटे थे. लेकिन मेजबानी ओमान चली गयी. हमने जब इस संबंध में खेल विभाग और निदेशालय के अधिकारियों से बात करने की कोशिश की तो कोई भी अधिकारी इस मुद्दे पर बात करने को तैयार नहीं हुआ. यहां तक कि जिला खेल पदाधिकारी ने भी बताया कि उन्हें भी इस आयोजन को लेकर बहुत ज्यादा जानकारी नहीं दी गयी. वहीं इस रेस को लेकर उत्साहित दूसरे खेलों के खिलाड़ी अपनी मायूसी जाहिर कर रहे हैं. उनकी मानें तो एक बड़ा मौका था जो झारखंड के हाथ से निकल गया. न्यूज़ 18 को मिली जानकारी के मुताबिक यह चूक खेल विभाग और निदेशालय स्तर से हुई है.

    इस संबंध में जब खेल निदेशक जीशान कमर से बात की गयी तो उन्होंने अपनी ओर से कहीं चूक नहीं होने की बात कहकर अपना पल्ला झाड़ लिया. उन्होंने कहा कि इतना ज्यादा बजट हमारे पास नहीं था. वहीं, रांची के जिला खेल पदाधिकारी को इस आयोजन की जानकारी नहीं है. उन्होंने बताया कि उन्हें इसको लेकर ज्यादा जानकारी नहीं है.

    Tags: Athletics, CM Hemant Soren, Jharkhand news, Ranchi news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर