लाइव टीवी

बुरुगुलीकेरा हत्याकांड को देखते हुए राजभवन ने इस खास कार्यक्रम को टाला
Ranchi News in Hindi

News18 Jharkhand
Updated: January 23, 2020, 10:16 PM IST
बुरुगुलीकेरा हत्याकांड को देखते हुए राजभवन ने इस खास कार्यक्रम को टाला
सीएम हेमंत सोरेन ने राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू को बुरुगुलीकेरा हत्याकांड की जानकारी दी

मुख्यमंत्री ने बुरुगुलीकेरा और लोहरदगा की घटनाओं को देखते हुए शुक्रवार को होने वाले कैबिनेट विस्तार के कार्यक्रम को राज्यपाल से टालने का आग्रह किया.

  • Share this:
रांची. बुरुगुलीकेरा नरसंहार (Burugulikera Massacre) को देखते हुए इस साल राजभवन में 26 जनवरी के मौके पर हाई टी (High Tea) का आयोजन नहीं होगा. हर साल गणतंत्र दिवस (Republic Day) के मौके शाम में राजभवन में इस कार्यक्रम का आयोजन होता था. लेकिन इस बार इसे टाल दिया गया है. इस बीच गुरुवार शाम मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (CM Hemant Soren) ने राजभवन जाकर राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) से मुलाकात की. करीब एक घंटे तक राजभवन में हुई इस मुलाकात में मुख्यमंत्री ने बुरुगुलीकेरा घटना की विस्तृत जानकारी राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू को दी. साथ ही लोहरदगा की घटना के बारे में भी राज्यपाल से चर्चा की.

कैबिनेट विस्तार के कार्यक्रम को टालने का आग्रह

मुख्यमंत्री ने इन दोनों घटनाओं को देखते हुए शुक्रवार को होने वाले कैबिनेट विस्तार के कार्यक्रम को राज्यपाल से टालने का आग्रह किया. शुक्रवार दोपहर एक बजे राजभवन में नये मंत्रियों को शपथ दिलाई जानी थी. राज्यपाल से मिलने के बाद मीडिया कर्मियों से बात करते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने दोनों घटनाओं पर दुख जताया और कहा कि ऐसे माहौल में शपथ ग्रहण समारोह करना उचित नहीं दिख रहा. इस कारण से राज्यपाल से हमने शपथग्रहण कार्यक्रम को टालने का आग्रह किया है. साथ ही आगे की तिथि निर्धारित करने का भी आग्रह किया है.

बीजेपी ने पीड़ितों के लिए की ये मांग

इससे पहले प्रदेश बीजेपी एसटी मोर्चा ने सामूहिक नरसंहार पर राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा. और राज्यपाल से घटना पर संज्ञान लेने आग्रह किया. एसटी मोर्चा के अध्यक्ष रामकुमार पाहन ने हेमंत सरकार पर निशाना साधते हुए पीड़ित परिवारों के लिए नौकरी और 10-10 लाख रुपये मुआवजे की मांग की.

पीड़ितों से मुलाकात के दौरान भावुक हुए सीएम 

सीएम हेमंत सोरेन ने गुरुवार को पश्चिमी सिंहभूम में बुरुगुलीकेरा गांव जाकर पीड़ित परिवारों से मुलाकात की. इस दौरान वे पीड़ितों से बात करते हुए भावुक हो गये. उन्होंने समझाया कि इस घटना से किसी का भला नहीं हुआ. दोनों पक्षों को नुकसान हुआ है. मृतक के परिवार परेशान होंगे ही, साथ ही आरोपियों के जेल जाने से उनके परिवारों को भी मुसीबत उठानी पड़ेगी.बता दें कि बुरुगुलीकेरा गांव में ग्रामीणों के दो गुटों में विवाद के बाद 19 जनवरी को सात लोगों की निर्मम हत्या कर दी गई. वहीं लोहरदगा में गुरुवार को सीएए के पक्ष जुलूस पर उपद्रवियों ने हमला कर दिया. इस घटना में कई लोग और पुलिसकर्मी घायल हो गये. स्थिति को देखते हुए शहर में धारा-144 लगा दिया गया.

इनपुट- भुवन किशोर झा

ये भी पढ़ें- बुरुगुलीकेरा नरसंहार: पीड़ितों से मिले सीएम हेमंत सोरेन, बोले- दोषियों को मिलेगी सख्त सजा

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 23, 2020, 10:15 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर