साहेबगंज में 'बदलाव का बिगुल' फूंकेंगे हेमंत, बोले- जनता ने बना लिया है मन

हेमंत सोरेन साहेबगंज में सिदो-कान्हो की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर बदलाव यात्रा की शुरुआत करेंगे. इससे पहले रेलवे जेनरल इंस्टीट्यूट में वे जनसभा को भी संबोधित करेंगे.

News18 Jharkhand
Updated: August 26, 2019, 8:51 AM IST
साहेबगंज में 'बदलाव का बिगुल' फूंकेंगे हेमंत, बोले- जनता ने बना लिया है मन
हेमंत सोरेन साहेबगंज से बदलाव यात्रा की शुरुआत करेंगे
News18 Jharkhand
Updated: August 26, 2019, 8:51 AM IST
आने वाले विधानसभा चुनाव (Jharkhand Assembly Election) के मद्देनजर झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) (JMM) आज से बदलाव यात्रा (Badlaw Yatra) शुरू करने जा रहा है. इसके लिए पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष व नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन (Hemant Soren) साहेबगंज पहुंच चुके हैं. यहां वे सिदो- कान्हो की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर यात्रा की शुरुआत करेंगे. इससे पहले रेलवे जेनरल इंस्टीट्यूट में जनसभा को भी संबोधित करेंगे. इस दौरान पूर्व मंत्री लोबिन हेम्ब्रम समेत पार्टी के कई विधायक भी मौजूद रहेंगे. हालांकि डेंगू के चलते राजमहल सांसद विजय हांसदा सभा में शामिल नहीं हो पाएंगे. वह फिलहाल कोलकाता में अपना इलाज करवा रहे हैं.

'जनता ने बदलाव का मन बना लिया है'

साहेबगंज जाने के लिए हेमंत सोरेन ने रांची स्टेशन पर वनांचल एक्सप्रेस पकड़ी. इस दौरान न्यूज- 18 से
एक्सक्लुसिव बातचीत में उन्होंने कहा कि इस बार राज्य की जनता ने बदलाव का मन बना लिया है. सरकार की जनविरोधी नीतियां और लॉ एंड आर्डर की खस्ताहाल स्थिति सहित कई मुद्दों को लेकर वे बदलाव यात्रा पर निकले रहे हैं.

झारखंड में जेडीयू के सिम्बल तीर के फ्रीज होने पर हेमन्त सोरेन ने कहा कि जानबूझ कर जेडीयू षड्यंत्र कर रहा था. जेएमएम समर्थकों को दुविधा में डालकर बीजेपी को फायदा पहुंचाने की कवायद हो रही थी.

झारखंड में जेडीयू का 'तीर' फ्रीज 

एनडीए से अलग जाकर झारखंड विधानसभा चुनाव में अपनी किस्मत आजमाने का ऐलान कर चुके नीतीश कुमार का 'तीर' झारखंड में निशाने से भटक गया है. विधानसभा चुनाव से ठीक पहले चुनाव आयोग ने जेडीयू का सिंबल झारखंड में फ्रीज कर दिया है. अब जेडीयू का कोई भी उम्मीदवार 'तीर' चुनाव चिन्ह के साथ झारखंड विधानसभा चुनाव में नहीं उतर पाएगा.
Loading...

आयोग ने यह फैसला झारखंड मुक्ति मोर्चा की उस शिकायत के बाद लिया है, जिसमें जेएमएम ने यह शिकायत दर्ज कराई थी कि उनकी पार्टी का चुनाव चिन्ह तीर- धनुष है. लिहाजा जेडीयू को 'तीर' चुनाव चिन्ह के साथ विधानसभा चुनाव लड़ने की इजाजत न दी जाए. चुनाव आयोग ने जेएमएम की तरफ से 24 जून को की गई शिकायत पर फैसला लेते हुए जेडीयू का सिंबल झारखंड में फ्रिज कर दिया.

इनपुट- उपेन्द्र कुमार

ये भी पढ़ें- झारखंड में नहीं चलेगा नीतीश का 'तीर', विस चुनाव के पहले EC ने फ्रीज किया JDU का सिंबल

सिंधिया और जनार्दन द्विवेदी के बाद इस कांग्रेसी नेता ने किया Article-370 का समर्थन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 26, 2019, 8:50 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...