अपना शहर चुनें

States

नेताजी की जयंती के बहाने सियासत, JMM ने पूछा- बीजेपी बताए इससे पहले कब चढ़ाया था फूल

जेएमएम महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य (फाइल फोटो)
जेएमएम महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य (फाइल फोटो)

जेएमएम नेता ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी (Babulal Marandi) को बताना चाहिये कि इससे पहले उन्होंने कब नेताजी (Subhas Chandra Bose) को पुष्प अर्पित किया था.

  • Share this:
रांची. जेएमएम महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने सुभाषचंद्र बोस की जयंती (Netaji Subhas Chandra Bose Birth Anniversary) को लेकर बीजेपी पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि बीजेपी के नेता नेताजी के नाम पर मगरमच्छ के आंसू बहा रहे हैं. बंगाल में विधानसभा चुनाव है, इसलिए ये सब सियासी ड्रामा किया जा रहा है. इससे पहले बीजेपी वालों को कभी सुभाषचंद्र बोस के चरणों में फूल चढ़ाते नहीं देखा था.

जेएमएम नेता ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी को बताना चाहिये कि इससे पहले उन्होंने कब नेताजी को पुष्प अर्पित किया था. बीजेपी की यही घिनौनी राजनीति रही है. पंजाब चुनाव के वक्त भगत सिंह को बीजेपी ने आइकॉन माना. स्वामी विवेकानंद को ये विद्यार्थी परिषद से ये जोड़ते हैं. आज से पहले रांची में सुभाषचन्द्र बोस की प्रतिमा कहां है, ये भी बीजेपी के नेताओं को पता नहीं था. बिहार चुनाव में बीजेपी को खुदीराम बोस याद आये थे.

संविदाकर्मियों पर लाठीचार्ज को लेकर सियासत तेज



जेएमएम महासचिव ने रांची के बिरसा चौक पर संविदाकर्मियों पर शुक्रवार को हुए लाठीचार्ज को गलत बताया. हालांकि उन्होंने ये भी दलील दी कि कानून व्यवस्था को बनाये रखने के लिए कभी-कभी पुलिस को सख्त होना पड़ता है.धरना-प्रदर्शन करना लोगों को लोकतांत्रिक अधिकार है, लेकिन निहित दायरे में ही आंदोलन होना चाहिये. इस मुद्दे पर बीजेपी मगरमच्छ के आंसू बहा रही है.
सेवा विस्तार की मांग को लेकर रांची के बिरसा चौक पर आंदोलनरत संविदाकर्मियों पर शुक्रवार को पुलिस ने जमकर लाठी चटकाई. संविदाकर्मी सीएम आवास की ओर बढ़ रहे थे. इस घटना में कई प्रदर्शनकारी घायल हो गये. शनिवार को बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद दीपक प्रकाश ने संविदाकर्मियों से मुलाकात की. उन्होंने आंदोलनकारियों की मांग को जायज बताते हुए आंदोलन को समर्थन देने का ऐलान किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज