लाइव टीवी

जेवीएम की नई कार्यसमिति से बीजेपी में मर्जर के संकेत, प्रदीप यादव और बंधु तिर्की हुए दरकिनार
Ranchi News in Hindi

News18 Jharkhand
Updated: January 17, 2020, 6:54 PM IST
जेवीएम की नई कार्यसमिति से बीजेपी में मर्जर के संकेत, प्रदीप यादव और बंधु तिर्की हुए दरकिनार
नवमनोनीत प्रधान सचिव अभय सिंह ने कहा कि नए और समर्पित लोगों को बाबूलाल मरांडी ने मुख्यधारा में लाकर सम्मान दिया है. इससे पार्टी को मजबूत मिलेगी.

सूत्रों के मुताबिक जेवीएम का बीजेपी में मर्जर का विधायक प्रदीप यादव और बंधु तिर्की विरोध कर रहे हैं. जबकि बाबूलाल मरांडी इसके पक्ष में हैं.

  • Share this:
रांची. बीजेपी (BJP) में जेवीएम (JVM) के विलय (Merger) के कयासों के बीच पार्टी अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी (Babulal Marandi) ने शुक्रवार को 151 सदस्यीय नई केन्द्रीय कार्यसमिति (New Working Committee) का गठन कर दिया. केन्द्रीय कार्यसमिति के साथ-साथ सभी 24 जिलों के जिलाध्यक्ष और सभी प्रकोष्ठों के अध्यक्षों की भी घोषणा की गई. कार्यसमिति में पदाधिकारी के रूप में बंधु तिर्की, प्रदीप यादव, डॉ. सबा अहमद जैसे बड़े नेताओं को जगह नहीं मिली. जबकि संतोष कुमार, राजीव रंजन मिश्रा, सरोज सिंह, शोभा यादव, अभय सिंह जैसे जूनियर नेताओं को पदाधिकारी बनाया गया है.

प्रेस कॉन्फ्रेंस में जब मीडियाकर्मियों ने नवमनोनीत प्रधान सचिव अभय सिंह ये यह सवाल पूछा, तो उन्होंने कहा कि नए और समर्पित लोगों को बाबूलाल मरांडी ने मुख्यधारा में लाकर सम्मान दिया है. इससे पार्टी को मजबूत मिलेगी.

बाबूलाल मरांडी फिर बने पार्टी अध्यक्ष

पार्टी ने एक बार फिर बाबूलाल मरांडी को अध्यक्ष बनाया है. विनोद शर्मा और रामचंद्र केसरी समेत 9 नेताओं को उपाध्यक्ष बनाया गया है. वहीं पूर्व प्रधान महासचिव रहे प्रदीप यादव को सिर्फ सदस्य बनाया गया है. प्रदीप यादव पोड़ैयाहाट से पार्टी के विधायक हैं. हालांकि उन्हें बाबूलाल मरांडी के होते हुए विधायक दल का नेता बनाया गया. जेवीएम के इस बार तीन विधायक जीत कर आए हैं. हालांकि अंदरखाने मिल रही जानकारी के मुताबिक जेवीएम के बीजेपी में मर्जर का विधायक प्रदीप यादव और बंधु तिर्की विरोध कर रहे हैं. जबकि बाबूलाल मरांडी इसके पक्ष में हैं.

जेवीएम का बीजेपी में मर्जर के संकेत 

माना जा रहा है कि मर्जर के बाद बाबूलाल मरांडी को प्रदेश बीजेपी में बड़ी जिम्मेवारी दी जा सकती है. 20 जनवरी को बीजेपी के नये राष्ट्रीय अध्यक्ष की घोषणा के बाद झारखंड में भी नये प्रदेश अध्यक्ष का चयन होगा. जिसके बाद बीजेपी विधायक दल के नेता को भी चुनाव होगा. बीजेपी बाबूलाल मरांडी के आने को लेकर पार्टी को होने वाले नफा-नुकसान पर गंभीरता से विचार कर रही है. इसलिए अभी तक विधायक दल का नेता नहीं चुना है.

बता दें कि बीते 5 जनवरी को जेवीएम की पुरानी कार्यसमिति को भंग किया गया था. नई कार्यसमिति से पार्टी के बीजेपी में मर्जर के स्पष्ट संकेत मिल रहे हैं.रिपोर्ट- उपेन्द्र कुमार, भुवन किशोर

ये भी पढ़ें- दिल्ली में सोनिया-राहुल से मिले झारखंड के 16 विधायक, जोश के साथ काम करने की सलाह

 

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 17, 2020, 6:48 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर