Home /News /jharkhand /

विराट, धोनी के मन में एक-दूसरे के लिए है भरपूर सम्मान: रवि शास्त्री

विराट, धोनी के मन में एक-दूसरे के लिए है भरपूर सम्मान: रवि शास्त्री

भारतीय क्रिकेट टीम के टीम निदेशक रवि शास्त्री ने टीम के भीतर कप्तानी को लेकर विवाद की खबरों को खंडन करते हुए कहा है कि विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी एकदूसरे का अत्यधिक सम्मान करते हैं.

भारतीय क्रिकेट टीम के टीम निदेशक रवि शास्त्री ने टीम के भीतर कप्तानी को लेकर विवाद की खबरों को खंडन करते हुए कहा है कि विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी एकदूसरे का अत्यधिक सम्मान करते हैं.

भारतीय क्रिकेट टीम के टीम निदेशक रवि शास्त्री ने टीम के भीतर कप्तानी को लेकर विवाद की खबरों को खंडन करते हुए कहा है कि विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी एकदूसरे का अत्यधिक सम्मान करते हैं.

  • IBN7
  • Last Updated :
    भारतीय क्रिकेट टीम के टीम निदेशक रवि शास्त्री ने टीम के भीतर कप्तानी को लेकर विवाद की खबरों को खंडन करते हुए कहा है कि विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी एकदूसरे का अत्यधिक सम्मान करते हैं.

    भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट पर शास्त्री के हवाले से कहा गया है कि यह बात लोगों को बिल्कुल नहीं पता कि कोहली और धोनी एकदूसरे का काफी सम्मान करते हैं. उनके बीच किसी भी तरह का मनमुटाव या मतभेद नहीं है और उन दोनों के बीच किसी तरह के मतभेद की बात बिलकुल बकवास हैं.

    शास्त्री का यह भी कहना है कि कोहली की शैली बिल्कुल अलग है और वो सिर्फ 26 साल के हैं. उन्हें कप्तान के तौर पर स्थापित होने में 1 से 2 साल का वक्त लगेगा वहीं धोनी के बारे में शास्त्री का कहना है कि वह सर्वाकालीन महानतम खिलाड़ियों में से एक है.

    धोनी अपनी शर्तों पर क्रिकेट केलते है और जिस अंदाज में उन्होंने टेस्ट क्रिकेट छोड़ी वो उसी बात का सबूत है वर्ना 100 टेस्ट खेलने की हसरत रखने वाले कई किलाड़ियों को मैं जानता हूं.

    शास्त्री ने कहा है कि धोनी भारतीय टीम को कप्तान के तौर पर जब अपने चरम पर था उस समय कोहली बिल्कुल युवा था. ऐसा भी समय रहा है जब टीम में कोहली की जगह पक्की नहीं थी और धोनी ने उसे टीम में बरकरार रखा है. ऐसी चीजें भूलनी नहीं चाहिए. कोई बताए चाहे न बताए मुझे उनमें एकदूसरे के प्रति सम्मान दिखाई पड़ता है.

    बांग्लादेश के हाथों एकदिवसीय श्रृंखला में मिली शर्मनाक हार के बाद टेस्ट टीम के कप्तान कोहली द्वारा टीम की निर्णय प्रणाली पर सवाल उठाए जाने के बाद टीम के भीतर मतभेद के कयास लगाए जाने लगे थे.

    कोहली ने तब कहा था कि हमने जिस तरह का खेल खेला, उससे में खुश नहीं हूं. हम निर्णय लेने के दौरान संदेह की स्थिति में रहे, जो मैदान के बाहर और अंदर दोनों जगह दिखाई दी.

    कोहली की टिप्पणी के बाद सुरेश रैना और रविचंद्रन अश्विन ने खुलकर धोनी का समर्थन किया था, वहीं धोनी के निजी कोच ने टीम के भीतर 'गुटबाजी' को धोनी के व्यक्तिगत प्रदर्शन में गिरावट की वजह बताई थी. इन सबके बाद टीम के भीतर विवाद की अटकलों ने जोर पकड़ लिया.

    टीम निदेशक के तौर पर टीम में लाए गए बड़े बदलाव के बारे में पूछे जाने पर शास्त्री ने कहा है कि ईमानदारी और खुलापन. मैंने खिलाड़ियों से कहा है कि जो कुछ भी आप कहना चाहते हैं, ड्रेसिंग रुम में कहें न कि किसी और से'.

    Tags: BCCI, Mahendra Singh Dhoni, Ravi shastri, Virat Kohli

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर