मजदूर ने कहा- सर, ट्रेन में खाना नहीं मिल रहा, नोडल अफसर का जवाब- कूद जाओ वहां से…
Ranchi News in Hindi

मजदूर ने कहा- सर, ट्रेन में खाना नहीं मिल रहा, नोडल अफसर का जवाब- कूद जाओ वहां से…
झारखंड के सीनियर आईएएस अधिकारी एपी सिंह (फाइल फोटो)

कथित तौर पर ऑडियो क्लिप में एक मजदूर और सीनियर आईएएस अधिकारी एपी सिंह (AP Singh) की बातचीत दर्ज है. जिसमें मजदूर ट्रेन में खाना नहीं मिलने की शिकायत करता है, तो फोन पर एपी सिंह उसे ट्रेन से कूद जाने को कहते हैं.

  • Share this:
रांची. झारखंड सरकार ने प्रवासी मजदूरों (Laborers) को वापस लाने का जिम्मा सीनियर आईएएस अधिकारी एपी सिंह (AP Singh) को सौंपा है. लेकिन वे अपने इस काम के प्रति किस हद तक संवेदनशील हैं, वायरल हो रहे एक ऑडियो क्लिप (Viral Audio Clip) से इसका पता चलता है. दरअसल, कथित तौर पर इस क्लिप में एक मजदूर और एपी सिंह की बातचीत दर्ज है. जिसमें एक मजदूर ट्रेन में सफर के दौरान खाना नहीं मिलने की शिकायत एपी सिंह से करता है, तो फोन पर एपी सिंह उसे ट्रेन से कूद जाने को कहते हैं. हालांकि, न्यूज-18 इस ऑडियो क्लिप की पुष्टि नहीं करता है.

अबतक 3 लाख मजदूर लौट चुके हैं प्रदेश 

पूरे देश कोरोना वायरस के चलते जारी लॉकडाउन से सबसे ज्यादा परेशानी विभिन्न जगहों पर फंसे मजदूरों को हो रही है. संकट की इस घड़ी में मजदूरों को मदद देने के लिए सरकार और निजी संस्थाएं भी सामने आई हैं. मजदूरों को वापस अपने प्रदेश लाया जा रहा है. झारखंड में अभी तक करीब तीन लाख प्रवासी मजदूर घर वापस आ चुके हैं. ट्रेन, बस, ट्रक, पैदल जिसके जैसे हुआ घर लौटे हैं. लेकिन इस हालात में राज्य के एक वरिष्ठ नौकरशाह का इस कदर असंवेदनशील रुख शर्मिंदा करने वाला है.



प्रवासी मजदूरों को वापस लाने की व्यवस्था को हेड कर रहे हैं एपी सिंह 



बता दें कि झारखंड सरकार की तरफ से प्रवासी मजदूरों को वापस लाने के लिए 15 से ज्यादा आईएएस अधिकारियों को राज्यवार नोडल अधिकारी बनाया गया. इस व्यवस्था को हेड सीनियर आईएएस एपी सिंह ही कर रहे हैं. वे सीधे चीफ सेक्रेट्री को रिपोर्ट करते हैं. मुसीबत में फंसे प्रवासी मजदूर मदद मांग सके, इसलिए हर नोडल अधिकारी का नंबर जारी किया गया है. लेकिन एक प्रवासी मजदूर की बेबसी पर एपी सिंह ने कुछ ऐसा कह दिया जिससे पूरी ब्यूरोक्रेसी सकते में है.

ट्रेन से सफर कर रहे एक मजदूर ने एपी सिंह को फोन किया और उन्हें अपनी परेशानी बताई, तो आईएएस अफसर ने क्या कहा जानिए

प्रवासी मजदूरः हैलो सर, हेलो…हेलो….
एपी सिंह :  हेलो…

प्रवासी मजदूरः हेलो सर नमस्कार...
एपी सिंह :  नमस्कार...

प्रवासी मजदूरः ये फोन एपी सिंह सर के पास लगा है.
एपी सिंह:  कौन आप बोल रहे हैं...

प्रवासी मजदूरः हम लोग झारखंड के प्रवासी मजदूर बोल रहे हैं. स्पेशल ट्रेन से वापस आ रहे हैं सर… सुबह से खाना नहीं मिला है…भूख से परेशान हो गए हैं हम लोग...
एपी सिंह:  अच्छा…खाना रेलवे को देना है…रेलवे देगा खाना...

प्रवासी  मजदूरः कब देगा सर…सुबह में खाली एक पैकेट ब्रेड..एक केला और एक बोतल पानी दिया है…उसी में दिन भर काटना पड़ रहा है सर…कैसे क्या करें…
एपी सिंह: कूद जाइये वहां से…और क्या करिएगा…

प्रवासी मजदूरः कूद जाने से अच्छा रहेगा क्या…
एपी सिंह:  रास्ते में जो देना है वो हमको नहीं रेलवे को देना है…

फिर फोन कट गया.....

ये भी पढ़ें- हेमंत सरकार ने करोड़ों के कॉपरेटिव बैंक घोटाले की जांच का जिम्मा ACB को सौंपा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading