होम /न्यूज /झारखंड /झारखंड में 6 मार्च से राजद का सदस्यता अभियान, नेताओं के लिए टारगेट तय - सदस्य बनाएं, टिकट पाएं

झारखंड में 6 मार्च से राजद का सदस्यता अभियान, नेताओं के लिए टारगेट तय - सदस्य बनाएं, टिकट पाएं

सदस्यता अभियान के बहाने झारखंड में 'लालू यादव को जेल और दूसरों को बेल' के मुद्दे पर राजद के कार्यकर्ता जन गोलबंदी की रणनीति बना रहे हैं.

सदस्यता अभियान के बहाने झारखंड में 'लालू यादव को जेल और दूसरों को बेल' के मुद्दे पर राजद के कार्यकर्ता जन गोलबंदी की रणनीति बना रहे हैं.

Conditions Apply: सदस्यता अभियान के बहाने झारखंड में 'लालू यादव को जेल और दूसरों को बेल' के मुद्दे पर राजद के कार्यकर्त ...अधिक पढ़ें

रांची. लालू यादव और लालू यादव की पार्टी राजद फिर से एक बार चर्चा में हैं. लालू यादव को जहां चारा घोटाला के एक और मामले में 5 साल की सजा हुई है, वहीं उनकी पार्टी लालटेन की लौ को गांव-गांव, घर-घर तक पहुंचाने का लक्ष्य लिए राजनीति के मैदान में कूद पड़ी है. सदस्यता अभियान के बहाने झारखंड में ‘लालू यादव को जेल और दूसरों को बेल’ के मुद्दे पर राजद के कार्यकर्ता जन गोलबंदी की रणनीति बना रहे हैं. झारखंड में सदस्यता अभियान का लक्ष्य 25 लाख रखते हुए इसकी शुरुआत संथालपरगना से 6 मार्च को होने जा रही है. राजद के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष संजय सिंह यादव का कहना है कि उनके वोट के दम पर चुनाव जीतने वाले मौका आने पर उन्हें ही भूल जाते है. इसलिए राजनीति के मैदान में राजद की ताकत आने वाले दिनों में लोग खुद महसूस करेंगे.

झारखंड राजद ने पूर्व विधायक से लेकर पूर्व सांसद और जिला अध्यक्ष से लेकर पार्टी के वरीय नेता के लिए सदस्यता का टास्क तय कर दिया है. सदस्यता के आधार पर ही बिहार और झारखंड में राजद का टिकट मिलने की बात कही जा रही है. ऐसे में राज्य के राजद नेताओं को इस बात का यकीन है कि जब तक लालू यादव जेल में बंद रहेंगे, उनके समर्थक पार्टी की ताकत को बढ़ाने का काम करेंगे. राजद के प्रधान महासचिव संजय यादव के मुताबिक, लालू यादव के संदेश को राज्य के हर गांव तक पहुंचाने का काम राजद के नेता और कार्यकर्ता करेंगे. लालू यादव के जेल जाने से उनका मनोबल कमजोर होने के बजाय, उनके अंदर नई ऊर्जा का संचार हुआ है. राजद के नेता गांव-गांव जाकर लालू के जेल में रहने को गरीबों की आवाज को कैद में रखे जाने जैसा बताएंगे.

झारखंड में राजद के लिए 25 लाख सदस्य बना पाना नामुमकिन सा टारगेट लगता है. राजद की मौजूदा सांगठनिक क्षमता के बूते की ये बात नहीं. फिर भी राजद के नेता बड़ा लक्ष्य तय कर सदस्यता अभियान को सफल करने में जुट गए हैं. हालांकि लालू यादव के जेल में रहने या रिम्स में इलाजरत रहने का राजद को कैसे राजनीतिक लाभ मिलेगा, ये तो देखने वाली बात होगी.

Tags: Lalu Prasad Yadav, RIMS, RJD news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें