लाइव टीवी

मकर संक्रांति पर रिम्स में भोज देना चाहते थे लालू यादव, नहीं मिली इजाजत

News18 Jharkhand
Updated: January 15, 2020, 6:34 PM IST
मकर संक्रांति पर रिम्स में भोज देना चाहते थे लालू यादव, नहीं मिली इजाजत
लालू यादव ने डॉक्टरों के निर्देश पर इस बार दही के बदले दूध-चूड़ा खाकर मकर संक्रांति मनायी. (फाइल फोटो)

ये लगातार तीसरा साल है, जब लालू यादव मकर संक्रांति के मौके पर पटना से दूर हैं. वे हर साल पटना में अपने आवास पर मकर संक्रांति का भोज दिया करते थे.

  • Share this:
रांची. मकर संक्रांति (Makar Sankranti) के मौके पर बड़ी संख्या में आरजेडी समर्थक दही-चूड़ा लेकर रिम्स पहुंचे. समर्थकों ने लालू यादव (Lalu Yadav) के निर्देश पर अस्पताल में तीन सौ लोगों को भोज (Feast) देने की व्यवस्था की थी. लेकिन जेल और अस्पताल प्रशासन से अनुमति नहीं मिलने के कारण भोज को बाद में पार्टी कार्यालय शिफ्ट कर दिया गया. हालांकि लालू यादव ने पेइंग वार्ड की नर्सो, मेडिकल स्टाफ और सुरक्षाकर्मियों को चूड़ा-गुड़ और तिलकुत भेंटकर मकर संक्रांति की शुभकामनाएं दीं.

ये लगातार तीसरा साल है, जब लालू यादव मकर संक्रांति के मौके पर पटना से दूर हैं. वे हर साल पटना में अपने आवास पर मकर संक्रांति का भोज दिया करते थे. उनके भोज को आज भी उनके समर्थक याद करते हैं. मकर संक्रांति के प्रति लालू प्रसाद के उसी प्रेम को देखते हुए उनका एक समर्थक बिहार के बख्तियारपुर से चूड़ा- दही और तिलकुट लेकर रिम्स पहुंचे थे.

आरजेडी प्रदेश अध्यक्ष अभय कुमार सिंह ने बताया कि लालू प्रसाद के निर्देश पर रिम्स में 300 लोगों को मकर संक्रांति पर भोज देने की तैयारी थी. लेकिन रिम्स और जेल प्रशासन ने इसकी अनुमति नहीं दी. बाद में भोज को राजद कार्यालय शिफ्ट कर दिया गया. भोज को लेकर रिम्स के कैंटीन में ही सब्जियां बनायी जा चुकी थी.

दूध-चूड़ा खाकर लालू यादव ने मनाई मकर संक्रांति

वैसे लालू प्रसाद ने डॉक्टरों के निर्देश पर इस बार दही के बदले दूध-चूड़ा खाकर मकर संक्रांति मनायी. उनके स्वास्थ्य को देखते हुए डॉक्टरों ने उनके खान-पान पर काफी पाबंदी लगा रखी है. वे शुगर के मरीज हैं. और उन्हें रोजाना 80 से 82 यूनिट इंसुलिन दी जाती है. बता दें कि चारा घोटाला के चार मामलों में रांची के बिरसा मुंडा जेल में सजा काट रहे लालू यादव फिलहाल रिम्स के पेइंग वार्ड में भर्ती हैं. उन्हें कई तरह की स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां हैं. इसलिए जेल प्रशासन की देखरेख में उनका रिम्स के पेइंग वार्ड में इलाज चल रहा है.

रिपोर्ट- उपेन्द्र कुमार

ये भी पढ़ें- शुगर के मरीजों के लिए अच्छी खबर, देवघर के किसानों ने शुरू की शुगर फ्री आलू की खेती 

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 15, 2020, 6:33 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर