सरकार की नाक के नीचे जमीन दलालों की कारस्तानी, बेच दी सरकारी स्कूल की जमीन

झारखंड मंत्रालय से महज तीन किलोमीटर की दूरी पर स्थित लटमा मध्य विद्यालय की जमीन को दलालों ने जीतेंद्र सिंह नामक शख्स को बेच दिया.

Manoj Kumar | News18 Jharkhand
Updated: July 10, 2019, 11:43 AM IST
सरकार की नाक के नीचे जमीन दलालों की कारस्तानी, बेच दी सरकारी स्कूल की जमीन
झारखंड मंत्रालय से महज तीन किलोमीटर की दूरी पर स्थित लटमा मध्य विद्यालय की जमीन को दलालों ने जीतेंद्र सिंह नामक शख्स को बेच दिया. इतना ही नहीं अंचल कार्यालय ने इस जमीन की जीतेन्द्र के नाम दाखिल- खारिज भी कर दी.
Manoj Kumar
Manoj Kumar | News18 Jharkhand
Updated: July 10, 2019, 11:43 AM IST
झारखंड में जमीन दलालों की नजर अब सरकारी जमीनों पर भी पड़ने लगी है. ताजा मामला राजधानी रांची का है. यहां सरकार की नाक के नीचे सरकारी विद्यालय की 17 डिसमिल जमीन को दलालों ने एक शख्स को बेच दिया. इसकी भनक स्कूल प्रबंधन और गांववालों को तब लगी, जब अंचल कार्यालय से उस जमीन की दाखिल-खारिज भी हो गई.

झारखंड मंत्रालय से महज तीन किलोमीटर की दूरी पर स्थित लटमा मध्य विद्यालय की जमीन को दलालों ने जीतेंद्र सिंह नामक शख्स को बेच दिया. इतना ही नहीं अंचल कार्यालय ने इस जमीन की जीतेन्द्र के नाम दाखिल-खारिज भी कर दी. इस बात की भनक स्कूल प्रबंधन और ग्रामीणों को लगी, तो इसकी शिकायत सर्किल ऑफिसर से की गई. उन्होंने भी जांच के नाम पर खानापूर्ति कर मामले को रफा दफा कर दिया.

CM के जनता दरबार में भी की जा चुकी है शिकायत

लटमा मध्य विद्यालय की प्रभारी प्राचार्या अनिमा इंसा बेपन्ना ने बताया कि स्कूल को 5 एकड़ 24 डिसमिल जमीन सरकार की तरफ से दी गई थी. उसमें से 17 डिसमिल जमीन दलालों ने बेच दी. स्थानीय निवासी लाल तारकेश्वर नाथ शाहदेव ने बताया कि इसकी शिकायत अंचल कार्यालय और मुख्यमंत्री जनता दरबार में भी की गई, लेकिन अभी तक दलालों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई.

दलालों ने बेच दी सरकारी जमीन


न्यूज-18 के खुलासे पर जांच के निर्देश 

न्यूज-18 की टीम ने जब जिले के उपायुक्त राय महिमापत रे से इस बारे में जानना चाहा, तो वह भी सकते में आ गए. डीसी ने तत्काल मामले की जांच कराने का निर्देश अधिकारियों को दिया है. डीसी ने स्कूल के खाली पड़ी  जमीन पर बच्चों के खेलने के लिए स्टेडियम बनाने की बात कही है.
Loading...

दरअसल, एचईसी के कारण विस्थापित हुए हटिया, लटमा और सतरंगी गांव के निवासियों के लिए सरकार ने जमीन दी थी. इसमें से 5 एकड़ 24 डिसमिल जमीन गर्ल्स हाईस्कूल के निर्माण के लिए दी गई. आज तक गर्ल्स हाईस्कूल तो नहीं बना पर दलालों ने 17 डिसमिल जमीन जरूर बेच दी. अब न्यूज- 18 के खुलासे के बाद डीसी ने इस मामले में जांच का भरोसा दिलाया है. साथ ही यहां स्टेडियम बनवाने का भी भरोसा दिलाया है.

ये भी पढ़ें- प्रिसिंपल का फेक अकाउंट बनाकर किया ई-मेल, बच्चे के इलाज के नाम पर पैसे ऐंठने की कोशिश

पीएफ फंड अनियमितता मामले में सीबीआई का रांची, साहेबगंज और जमशेदपुर में छापा
First published: July 10, 2019, 11:04 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...