होम /न्यूज /झारखंड /Success Story: CA की नौकरी छोड़ 10 हजार से शुरू किया चॉकलेट का स्टार्टअप, ऐसे मिली कामयाबी

Success Story: CA की नौकरी छोड़ 10 हजार से शुरू किया चॉकलेट का स्टार्टअप, ऐसे मिली कामयाबी

Ranchi News: प्रतीक कहते हैं कि बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक उनकी चॉकलेट चख सकते हैं. क्योंकि उनमें पास शुगर फ्री व शुगर म ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट- शिखा श्रेया

रांची. रांची के मोराबादी मैदान में चल रहे जेसीआई एक्सपो उत्सव चल रहा है. यहां लगे करीब 250 स्टॉलों में एक स्टॉल प्रतीक कुमार के चॉकलेट का है. एक्सपो में आने वाले लोग यहां पहुंच रहे हैं. खासकर युवा, बच्चे व चॉकलेट प्रेमी यहां खींचे चले आ रहे हैं. प्रतीक के स्टॉल पर करीब 50 फ्लेवर के हैंडमेड चॉकलेट उपलब्ध हैं. जिसे लोग खूब पसंद कर रहे हैं. प्रतीक ने बताया कि उन्हें चॉकलेट खाना व बनाना बेहद पसंद है. इसलिए इसे ही अपना प्रोफेशनल बना लिया.

झारखंड के जमशेदपुर के रहने वाले प्रतिक ने न्यूज18 लोकल को बताया कि उन्होंने चार्टर्ड अकाउंटेंट की पढ़ाई की है. गोवा में नौकरी कर रहे थे. लेकिन मन कुछ नया करने को कहता था. चॉकलेट खाना और बनाना बेहद पसंद है. इस वजह से इस व्यापार को चुना. गोवा में जॉब के साथ ठेले पर खूद के बनाए चॉकलेट बेचने की शुरुआत की. फिर धीरे-धीरे जॉब छोड़कर इसी में चल गया. मात्र 10 हजार रुपये बिजनेस की शुरुआत की थी, आज देश भर में 80 लोग उनके साथ जुड़े हैं.

कई फ्लेवर में उपलब्ध हैं चॉकलेट
प्रतीक ने बताया कि उनकी चॉकलेट की खास बात है कि यह प्राकृतिक तरीके से बनाई गई है. इसमें किसी प्रकार के कंपाउंड या फ्लेवर नहीं मिलाए जाते हैं. केरला के खेत से बींस मंगाते हैं और फिर इसे धूप में सुखाते हैं. इसे सूखने में ही एक महीना का समय लगता है. उसके बाद इसे पीसते हैं. फिर उसमें आम, अदरक, चाय, गुलाब, केसर, दालचीनी, नीबू, अंगूर या अनार आदि डालकर चॉकलेट तैयार करते हैं. उन्होंने बताया कि वह 150 प्रकार के चॉकलेट बनाते हैं. देशभर में घुमकर इसका प्रचार करते हैं. लोग ऑनलाइन ऑर्डर कर चॉकलेट का आनंद ले रहे हैं.

6 साल तक लिया लोगों का फीडबैक
प्रतीक ने बताया कि साल 2014 से 2019 तक मैंने अलग-अलग राज्यों में घूमकर लोगों को मुफ्त में चॉकलेट टेस्ट कराया. चुकी इसे वह खूद बनाते है, इसलिए लोगों की राय जाननी बेहद जरूरी थी. कई बार ऐसा होता कि लोगों को चॉकलेट इतनी गंदी लगती कि वह थूक कर चले जाते थे या फिर कहते थे कि चॉकलेट बेहद बेकार है. लेकिन निराश होने के बजाय उन्होंने हर एक राय को तवज्जो दी. समझा कि गलती कहां हो रही है, हर एक राय पर विचार किया और अपने चॉकलेट को दिन पर दिन राय के हिसाब से सुधारना शुरू किया. आज आलम यह है कि कोई भी उनकी चॉकलेट की तारीफ किए बगैर नहीं रहता है.

ऑनलाइन मंगा सकते चॉकलेट
प्रतीक कहते हैं कि बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक उनकी चॉकलेट चख सकते हैं. क्योंकि उनमें पास शुगर फ्री व शुगर मीडियम आदि चॉकलेट भी है. डाइट पर रहने वाले भी इसे खा सकते हैं. उन्होंने बताय कि चॉकलेट की कीमत 25 रुपये से लेकर 40 रुपये तक मौजूद है. इंस्टाग्राम पर pratikscocoalane नाम के पेज पर जा कर ऑर्डर कर चॉकलेट ऑनलाइन मंगा सकते हैं.

Tags: Food business, Jharkhand news, Ranchi news, Success Story

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें